बलात्कार के आरोप में बंद युवक को मिली जमानत, लक्जरी गाड़ियों में खुशी से निकाला जुलूस

बात ज्यादा पुरानी नहीं है।जब पुलिस ने एक ऐसे युवक को गिरफ्तार करके जेल भेजा था जिस पर एक युवकी के शारीरिक शोषण का आरोप था।उम्मीद यही की जा रही थी कि जेल जाने के बाद युवक अपने कृत्य पर शर्मिंदा होगा,लेेकिन हुआ इसका उलटा।करीब दो महीने बाद युवक को कोर्ट से जमानत मिली तो उसने बेशर्मी की सारी हदें पार करते हुए शक्ति प्रदर्शन करने का घिनौना कारनामा कर दिखाया। दरअसल, लखनऊ के एक युवक पर  मुंबई की युवती को बालीवुड एक्ट्रेस बनाने का झांसा देकर दो साल तक शारीरिक शोषण करने और गर्भपात कराने का आरोप लगा था। इसी मामले में युवक राजन पंडित उर्फ दिव्यांश तिवारी जेल में बंद था और सोमवार को जेल से छूटा था। गोसाईगंज जेल से छूटते ही राजन ने गले में माला पहनकर लक्जरी गाड़ियों के काफिले के साथ सुशांत गोल्फ सिटी तक जुलूस निकाला तो  देखने वाले हैरान रह गए।

इसे भी पढ़ें: BJP Foundation Day: जेपी नड्डा बोले- भाजपा ग़रीबों की पार्टी, सेवा ही हमारा लक्ष्य है

बात लखनऊ के गोसाइगंज थाना क्षेत्र की है। इंस्पेक्टर गोसाईगंज शैलेंद्र गिरी ने बताया कि दारोगा मनिंदर सिंह की तहरीर पर राजन के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है। राजन के काफिले में जो गाड़ियां चल रही थीं उनके चालक खतरनाक तरीके से गाड़ियां चला रहे थे। इसका विडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ। जिसके बाद मुकदमा दर्ज किया गया। जिसके चलते गाड़ियों का चालन भी किया गया। बता दें, राजन पंडित के खिलाफ मुंबई का कांदीवली में रहने वाली टिक-टाक गर्ल ने इंदिरानगर कोतवाली में बीते नवंबर माह में राजन पंडित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।इंस्पेक्टर इंदिरानगर आरपी प्रजापति के मुताबिक राजन पंडित यहां इंदिरानगर मानस सिटी में रहता था। पीड़िता ने आरोप लगाया था कि दो साल तक राजन ने उसे लिवइन रिलेशन में रहकर उसका शारीरिक शोषण किया। गर्भपात कराया और जब युवती ने शादी का दबाव बनाया तो उसे मारपीट कर भगा दिया। यह आरोप लगाते हुए युवती ने दिव्यांश के खिलाफ इंदिरानगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद राजन को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। वह गाजियाबाद में भी रहता है।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली के बादली एक्सटेंशन में एक मकान में लगी आग, आठ लोग सुरक्षित निकाले गए

युवती का कहना था कि वह एक प्रोजेक्ट के दौरान दिव्यांश के संपर्क में आयी थी।  तब दिव्यांश ने उसे बताया था कि उसका खुद का प्रोडक्शन हाउस है। वह फिल्में बना रहा है। दिव्यांश ने शादी का झांसा देकर और दो साल तक लिवइन रिलेशन में रखा। इस दौरान वह गर्भवती हो गई। दिव्यांश से शादी का दबाव बनाया तो उसने गर्भपात करा दिया। साथ रहने के दौरान लखनऊ समेत कई अलग-अलग शहरों में दिव्यांश उसके साथ रहा। शादी का दबाव बनाने पर वह प्रताड़ित कर मारपीट करता था। युवती ने बताया कि दिव्यांश के घर पर पहुंचकर उसने विरोध और शिकायत की। इस पर दिव्यांश की बहन नीतू और नेहा ने खुद को सपा नेता बताते हुए जेल भेजने की धमकी दी।

Source Link

DNSP NEWS

Next Post

मोदी की इस योजना का मुरीद हुआ IMF, कहा- भारत में अत्यंत गरीबी को टालने में मिली मदद

Wed Apr 6 , 2022
दुनिया को कोरोना महामारी ने जबरदस्त प्रभावित किया है। कोरोना की वजह से कई सारे देशों के साथ-साथ भारत भी प्रभावित हुआ है। 2020 और 2021 का साल किसी भी देश के लिए अच्छा नहीं रहा। कोरोना महामारी की वजह से लॉकडाउन लगाया गया। लॉकडाउन की वजह से अर्थव्यवस्था के […]

Breaking News