दुनिया ने हमारे कोरोना प्रबंधन और टीकाकरण अभियान को देखा, मांडविया बोले- हर जगह दिया जाता है भारत का उदाहरण

नयी दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने मंगलवार को भाजपा मुख्यालय में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए देश में कोविड मामलों की मौजूदा स्थिति की जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने कोविड प्रबंधन और टीकाकरण अभियान चलाया। ये एक नागरिक के रूप में आपके लिए, मेरे लिए और देश के लिए गौरव का विषय है। पहले स्थिति ये थी कि कुछ अच्छा होता है तो वो दुनिया में ही होता है और उसका भारत में उदाहरण दिया जाता था। 

इसे भी पढ़ें: सख्त लॉकडाउन से परेशान हुई शंघाई की जनता, इंटरनेट पर वायरल हो रहे वीडियो, अधिकारियों को दे रहे हैं ये चेतावनी 

इसी बीच मनसुख मांडविया ने जेनेवा में कोविड से संबंधित एक बैठक का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि मैं परसो जेनेवा में एक वैक्सीन ग्लोबल एलायंस की बैठक में हिस्सा लेकर आया। दुनिया ने जिस तरह से भारत के कोरोना प्रबंधन और टीकाकरण अभियान को देखा है कि किस तरह से एक दिन में 2.5 करोड़ डोज लगाई गई। किस तरह से इतने बड़े देश में कोरोना प्रबंधन किया गया। उन्होंने कहा कि दुनिया में वैक्सीन रिसर्च होता था तो इसके कम से कम 10 साल बाद भारत में वो वैक्सीन आती थी। आप सोचिये कि अगर स्वदेशी वैक्सीन न बनती तो हमारी क्या हालत होती। 

इसे भी पढ़ें: 18+ वालों को लगने लगी बूस्टर डोज, पहले दिन का आंकड़ा ये रहा 

उन्होंने कहा कि 16 जनवरी, 2021 को देश में टीकाकरण अभियान प्रारंभ हुआ और उसे बहुत तालमेल के साथ चलाया गया। प्रधानमंत्री मोदी भी अपनी बारी आने पर ही वैक्सीन लगवाने गए। उन्होंने कहा कि टीकाकरण अभियान के दौरान 10 लाख से अधिक हमारे हेल्थकेयर वर्कर इस काम में लगे। उन्होंने रेगिस्तान हो, पहाड़ हो, बर्फ हो या नदी पार करके देश भर में टीकाकरण अभियान चलाया।

Source Link

DNSP NEWS

Next Post

नजमा हेपतुल्ला जन्मदिन विशेष: वरिष्ठ भारतीय राजनेता के बारे में जानने योग्य बातें

Tue Apr 12 , 2022
13 अप्रैल 1940 को जन्मी नजमा हेपतुल्ला एक भारतीय राजनीतिज्ञ, सरकारी अधिकारी, सामाजिक अधिवक्ता और लेखिका हैं, जिन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (कांग्रेस पार्टी) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दोनों में प्रमुख पदों पर काम किया। हेपतुल्ला का पालन-पोषण भोपाल में हुआ था और वो प्रसिद्ध इस्लामी विद्वान और भारतीय स्वतंत्रता […]

You May Like

Breaking News