रामनवमी के दिन मध्य-प्रदेश के खरगोन में क्या हुआ था? घायल SP ने बताई पूरी कहानी

रामनवमी के दिन मध्य-प्रदेश के खरगोन में क्या हुआ था? घायल SP ने बताई पूरी कहानी
रामनवमी के दिन मध्य-प्रदेश के खरगोन में हिंसा हुई थी। इस हिंसा को लेकर मध्य प्रदेश सरकार लगातार खरगोन में कार्रवाई भी कर रही है खरगोन हिंसा को लेकर अब तक 100 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। एक प्रत्यक्षदर्शी ने मंगलवार को बताया कि रामनवमी का जुलूस रविवार को तालाब चौक इलाके से शुरु हुआ जिसमें डीजे सिस्टम से धार्मिक गीत बजाए जा रहे थे। चश्मदीद का कहना है कि जुलूस जब एक मस्जिद के पास से गुजरा तो जुलूस पर पथराव किया गया जिसके परिणामस्वरुप हिंसा भड़क गयी। इसी दौरान कई लोगों को चोटें भी लगी। साथ ही साथ कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए थे। हिंसा में खरगोन के एसपी सिद्धार्थ चौधरी भी घायल हो गए थे। उनके पैर में गोली लगी थी। एसपी को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालांकि अब एसपी खतरे से बाहर हैं और उन्होंने खरगोन में क्या कुछ हुआ था, इसको लेकर पूरी कहानी बताई है।

SP ने बताई पूरी कहानी 
एक न्यूज़ एजेंसी से बातचीत में खरगोन के एसपी ने बताया कि शाम को 7 बजे संजय नगर में जुलूस में पथराव होने की सूचना मिली जिसके बाद मैं वहां पहुंचा। इसी बीच वहां एक व्यक्ति तलवार घुमाता हुआ दूसरे पक्ष की तरफ़ आ गया। हमने उसे रोकने का प्रयास किया। मैं उसे पकड़ रहा था। उन्होंने कहा कि उसके साथ उसी का कोई साथी रहा होगा जिसने मुझ पर फ़ायरिंग की और मुझे पैर के नीचे लगा। पहले मुझे लगा कि यह पत्थर होगा लेकिन, जब ज़्यादा खून निकलने लगा तो मैंने सोचा कि यह गोली भी हो सकती है। स्थिति को नियंत्रित करने के बाद मैं इलाज के लिए अस्पताल गया। एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि जुलूस निर्धारित समय से देरी से शुरु हुआ और जब वह एक मस्जिद के सामने से गुजर रहा था तब नमाज अदा करने का था। उन्होंने कहा कि किसी ने जुलूस पर पथराव कर दिया और बाद में स्थिति हिंसक हो गई।
 
मौलवियों ने डीजीपी से मुलाकात की
मध्य प्रदेश के खरगोन शहर में रामनवमी जुलूस के दौरान हुई हिंसा के बाद रविवार से कर्फ्यू जारी रहने के बावजूद ताजा घटना में कुछ लोगों ने शहर में चार वाहनों और एक गैरेज में आग लगा दी। हिंसा के आरोप में लगभग 100 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं, मौलवियों ने आरोप लगाया है कि राज्य प्रशासन द्वारा मुस्लिम समुदाय के लोगों को चुनिंदा रूप से लक्षित किया किया गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज चौरसिया ने बताया कि खरगोन में रविवार शाम से कर्फ्यू है, उसके बाद भी कुछ असामाजिक तत्वों ने सोमवार रात शहर के मैकेनिक नगर इलाके में तीन बसों, एक कार और एक गैरेज में आग लगा दी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि रविवार को रामनवमी जुलूस के दौरान शुरू हुई हिंसा के सिलसिले में अब तक 95 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और शहर में कानून और स्थिति नियंत्रण में है। 

Source Link

DNSP NEWS

Next Post

गुरुग्राम के मंदिर में फल का रस पीने के बाद 25 लोग बेहोश, आखिर क्या था प्रसाद के अंदर

Wed Apr 13 , 2022
गुरुग्राम। हरियाणा के गुरुग्राम में स्थित एक मंदिर में एक व्यक्ति द्वारा दिया गया फलों का रस पीने के बाद 25 लोग अचेत हो गए जिनमें ज्यादातर महिलाएं और बच्चे शामिल हैं। पुलिस ने बताया कि व्यक्ति ने रस को प्रसाद बता कर वितरित किया था। पुलिस को शक है […]

Breaking News