पश्चिम बंगाल में 10वीं की परीक्षा में छात्रों ने लिखा- खेला होबे, बोर्ड ने कहा- 2वीं में लिखा तो…

पश्चिम बंगाल में 10वीं की परीक्षा में छात्रों ने लिखा- खेला होबे, बोर्ड ने कहा- 12वीं में लिखा तो...

पिछले साल बंगाल के विधानसभा चुनाव के दौरान सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विपक्षियों को घेरने के लिए खेला बोहे का नारा दिया था। जिसके बाद से ही ये पूरे देश में बेहद मशहूर हो गया था। लेकिन अब बंगाल की परिक्षाओं तक में छात्रों ने इसका प्रयोग कर दिया है। पश्चिम बंगाल बोर्ड की 10वीं की परीक्षा देने वाले छात्र ने उत्तर पत्रों में खेला होबे नारा लिख दिया। जिसके बाद नाराज अधिकारियों ने फैसला किया है कि जो परीक्षार्थी 12वीं कक्षा की परीक्षा में इस प्रकार के राजनीतिक नारे लिखेगा उसके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। 

पश्चिम बंगाल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन द्वारा आयोजित 10वीं कक्षा की माध्यमिक परीक्षा के परीक्षकों ने पाया है कि कई छात्रों ने अपने उत्तर पत्रों पर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस का एक नारा ‘खेला होबे लिख दिया। परीक्षा पिछले महीने आयोजित की गई थी।  पश्चिम बंगाल उच्च माध्यमिक शिक्षा परिषद जो उच्च माध्यमिक परीक्षा का आयोजन करती है। उसने कहा है कि 12वीं कक्षा की परीक्षा में यदि कोई उम्मीदवार उत्तर पत्रों पर राजनीतिक संदेश या चित्र लिखता है तो उस उम्मीदवार के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

इसके साथ ही परीक्षकों को ऐसे उत्तर पत्रों का मूल्यांकन नहीं करने का निर्देश दिया गया है। बंगाल बोर्ड के अध्यक्ष चिरंजीव भट्टाचार्य ने कहा कि राजनीतिक नारे, अभियान या विवादास्पद मुद्दे लिखना WBCHSE के नियमों और दिशानिर्देशों का उल्लंघन करते हैं और ऐसा किए जाने पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि तृणमूल कांग्रेस के लोकप्रिय हुए चुनावी नारा ‘खेला होबे’ (खेल हो गया) को प्रतिद्वंद्वी बीजेपी भी चुनाव प्रचार के भुनाती दिखी थी और दोनों दलों के दिग्गजों ने इसके बोलों का जिक्र किया था। पश्चिम बंगाल में रैलियों में इस शब्द के इर्द गिर्द टीएमसी और बीजेपी दोनों ने नारे गढ़े थे। हिदी में इसका अर्थ होता है ‘खेल होगा। ममता बनर्जी ने हर साल 16 अगस्त को खेला होबे दिवस मनाने का ऐलान किया है। 

Source Link

DNSP NEWS

Next Post

Hijab Controversy: अलकायदा सरगना की तारीफ पर मुस्कान के पिता ने कहा- हम प्रेम एवं भाईचारे के साथ रह रहे हैं

Thu Apr 7 , 2022
पिछले कुछ समय से देश में हिजाब का मुद्दा काफी सुर्खियों में है। कर्नाटक से शुरू हुआ यह मुद्दा देश के विभिन्न हिस्सों तक पहुंच गया है। इसको लेकर देश में एक समाज के लोगों ने विरोध प्रदर्शन भी किया। इन सबके बीच अपने कॉलेज में हिजाब का विरोध कर […]

Breaking News