भारत में ‘‘मानवाधिकार उल्लंघन के चिंताजनक घटनाक्रम’’, अमेरिका बोला- कर रहे हैं निगरानी

वाशिंगटन। अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा है कि अमेरिका भारत में कथित रूप से ‘‘सरकार, पुलिस और जेल के कुछ अधिकारियों द्वारा मानवाधिकारों के उल्लंघन संबंधी कुछ हालिया चिंताजनक घटनाक्रम’’ पर नजर रख रहा है।
ब्लिंकन ने सोमवार को ‘टू प्लस टू’ मंत्रिस्तरीय बैठक के समापन के बाद अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन और भारतीय समकक्षों विदेश मंत्री एस जयशंकर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में यह टिप्पणी की।

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी का भाजपा पर निशाना, बोले- महंगाई और बेरोजगारी पर चलना चाहिए बुलडोजर

ब्लिंकन ने अपनी प्रारंभिक टिप्पणी में कहा, ‘‘हम सरकार, पुलिस और जेल के कुछ अधिकारियों द्वारा मानवाधिकार हनन के मामलों में वृद्धि समेत भारत में हाल के कुछ चिंताजनक घटनाक्रम पर नजर रख रहे हैं।’’ बहरहाल, उन्होंने इस बारे में विस्तार से जानकारी नहीं दी।
ब्लिंकन ने कहा, ‘‘हम मानवाधिकारों की रक्षा करने जैसे हमारे लोकतांत्रिक मूल्यों के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम इन साझा मूल्यों को लेकर हमारे भारतीय साझेदारों के नियमित संपर्क में रहते हैं।’’

इसे भी पढ़ें: श्रीलंका में विरोध प्रदर्शन जारी, इस्तीफे के बाद फिर से दो मंत्रियों ने किया पार्टी का रूख

भारत देश में नागरिक अधिकारों के उल्लंघन को लेकर विदेशी सरकारों और मानवाधिकार समूहों द्वारा लगाए गए आरोपों को पहले ही खारिज कर चुका है।
भारत सरकार ने जोर देकर कहा है कि भारत में सभी के अधिकारों की रक्षा करने के लिए सुस्थापित लोकतांत्रिक व्यवस्थाएं और मजबूत संस्थाएं हैं। सरकार ने इस बात पर जोर दिया है कि भारतीय संविधान मानवाधिकारों की रक्षा सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न कानूनों के तहत पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करता है।

Source Link

DNSP NEWS

Next Post

Matrubhoomi: बांग्लादेश के निर्माण में अहम सूत्रधार रहा है भारत, जानें कैसी थी भूमिका

Tue Apr 12 , 2022
15 अगस्त 1947 को भारत ने आजादी तो पाई। लेकिन इसके साथ ही भारत ने बंटवारे का भी दंश झेला। भारत को बांट कर पाकिस्तान बनाया गया। वर्तमान में बांग्लादेश को पूर्वी पाकिस्तान कहा जाता था। वर्तमान में जो पाकिस्तान है उसे पश्चिमी पाकिस्तान कहा जाता था। हालांकि, पूर्वी पाकिस्तान […]

Breaking News