January 18, 2022

DNSP NEWS

Taking Action, Getting Result

मकर संक्रांति के पावन अवसर पर 1 करोड़ से ज्यादा लोगों ने किया सूर्य नमस्कार, देखें वीडियो

आज देशभर में मकर संक्रांति का पर्व मनाया जा रहा है और इस पावन मौके पर दुनियाभर में सूर्य नमस्कार का आयोजन किया गया है। जानकारी के लिए बता दें कि, लगभग 1 करोड़ लोगों ने इस पावन पर्व में एक साथ सूर्य नमस्कार किया है। इससे संबधित कई वीडियो भी सामने आए है। मकर संक्रांति पर वाराणसी, प्रयागराज, गंगासागर में श्रद्धालु कोरोना नियमों को तोड़ते नजर आए और गंगा में डुबकी लगा रहे है। वहीं हरिद्वार में कोरोना के नियमों का सख्ती से पालन किया जा रहा है। हर की पैड़ी सहित अन्य गंगा घाटों पर बैरिकेड लगा दिया गया है ताकि कोई भी श्रद्धालु स्नान न कर सके। महोत्सव के दौरान श्रद्धालुओं के न होने से घाटों पर काफी स्न्नाटा छाया हुआ है। 

मकर संक्रांति
मकर संक्रांति के पर्व को  बीहू, पोंगल, उत्तारयणी और खिचड़ी सज्ञान के नाम से भी जाना जाता है। सूर्य के उत्तरायण होने के उपलक्ष्य में मनाए जाने वाले इस त्यौहार के अवसर पर आयुष मंत्रालय ने आज के दिन 75 लाख लोगों सूर्य नमस्कार प्रदर्शन कार्यक्रम आयोजित किया है। इस कार्यक्रम को ‘आजादी के अमृत महोत्सव’ के तहत मनाया जा रहा है। ऑल इंडिया रेडियो के मुताबिक, इस कार्यक्रम में 1 करोड़ से ज्यादा लोग शामिल हुए है और सूर्य नमस्कार कर रहे है। 
मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि, ज्ञानिक दृष्टि से, सूर्य नमस्कार को प्रतिरक्षा विकसित करने और जीवन शक्ति में सुधार करने के लिए जाना जाता है, जो महामारी की आज की इस स्थिति में लोगों के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है. सूर्य के संपर्क में आने से मानव शरीर को विटामिन डी मिलता है, जिसे दुनियाभर की सभी चिकित्सा शाखाओं में व्यापक रूप से मान्यता मिली है।
 
आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा कि मकर संक्रांति पर होने वाला सूर्य नमस्कार प्रदर्शन कोविड-19 के समय अधिक प्रासंगिक है. उन्होने कहा, ‘यह एक सिद्ध तथ्य है कि सूर्य नमस्कार जीवन शक्ति और प्रतिरक्षा का निर्माण करता है और इसलिए यह कोरोना वायरस को दूर रखने में सक्षम है’। 

Source Link