खरगोन हिंसा: ओवैसी को नरोत्तम मिश्रा का जवाब, आपके सुझाव की जरूरत नहीं, कानून के दायरे में हो रही कार्रवाई

रामनवमी के दिन खरगोन में हुई हिंसा को लेकर मध्य प्रदेश सरकार सख्ती के मूड में है। रामनवमी की हिंसा को लेकर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश के बाद दंगाइयों के खिलाफ लगातार कार्रवाई हो रही है। इसी कड़ी में सोमवार को उनके घरों पर बुलडोजर चलाया गया। मध्य प्रदेश सरकार की कार्रवाई को लेकर विपक्ष लगातार आलोचना कर रहा है। इसी कड़ी में एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भी सवाल खड़े कर चुके हैं। ओवैसी के सवाल के जवाब में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने साफ तौर पर कहा कि हम जो कुछ भी कर रहे हैं, वह कानून के दायरे में कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून का राज है और जो भी इससे खिलवाड़ करेगा, वो इसका नतीजा भुगतेगा।

नरोत्तम मिश्रा ने साफ तौर पर कहा कि मध्यप्रदेश में पूरी तरीके से कानून का पालन किया जा रहा है। यहां ओवैसी के सुझाव की जरूरत नहीं है। दंगाइयों और अतिक्रमण के खिलाफ हो रही कार्रवाई कानून के दायरे में है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि खरगोन में पत्थर फेंके जाने पर तो ओवैस जी ने ऐतराज नहीं जताया, अब पत्थर फेंकने वालों पर कार्रवाई हो रही हो तो उनका आपत्ति जताना बताता है कि उन्हें किस बात कि पीड़ा हो रही है। वहीं मध्य प्रदेश के एक और मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि रामनवमी के जुलूस पर पथराव करने की मानसिकता कुचलेगी। इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे, आरोपियों को सजा दी जाएगी और बुलडोजर की कार्रवाई जारी रहेगी। यह एक संदेश है। 

 

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी का भाजपा पर निशाना, बोले- महंगाई और बेरोजगारी पर चलना चाहिए बुलडोजर

आपको बता दें कि खरगोन में हिंसा के बाद प्रशासनिक कार्रवाई को लेकर एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि यह स्पष्ट रूप से एक राज्य की मिलीभगत हिंसा है और जिनेवा कन्वेंशन का गंभीर उल्लंघन है। मध्य प्रदेश सरकार ने किस कानून के तहत मुस्लिम समुदाय के घरों को ध्वस्त कर दिया है? यह मुस्लिम अल्पसंख्यकों के प्रति मुख्यमंत्री के पक्षपातपूर्ण रवैये को स्पष्ट रूप से दर्शाता है। ओवैसी ने कहा कि मध्य प्रदेश में मंसूबा-बंद तरीक़े से क़ानून के शासन पर भीड़तंत्र हावी हो चुका है। शिवराज सिंह चौहान भले ही आपकी विचारधारा मस्जिदों को नापाक करने और बुजुर्गों पर हमले को सही ठहराती हो लेकिन ये न भूलें कि आप संवैधानिक पद पर बैठे हैं, जनता की जान व माल की सुरक्षा आपकी ज़िम्मेदारी है। इसी के साथ ही उन्होंने कहा कि सत्ता के नशे में शरसार होकर और क़ानून को बलाए-ताक़ रख कर जो आप गरीबों के आशियाने उजाड़ रहे हो, याद रखो! आज सरकार आपकी है, कल नहीं होगी। 

Source Link

DNSP NEWS

Next Post

दुश्मनों के टैंक का काल, HELINA ने दुनियाभर में मचाया हाहाकर, खूबियां जानकर रह जाएंगे दंग

Tue Apr 12 , 2022
आज का नया हिन्दुस्तान दिनों दिन ताकतवर होता जा रहा है। चीन और पाकिस्तान से मिल रही चुनौतियों से पार पाने के लिए ताकतवर हथियार विकसित किए जा रहे हैं। भारत की ताकत में और इजाफा होने जा रहा है क्योंकि आत्मनिर्भर भारत को बढ़ावा देते हुए हेलीकॉप्टर से दागी […]

Breaking News