National

गोधरा कांड के मुख्य आरोपी हाजी बिलाल की मौत, साबरमती एक्सप्रेस में लगाई थी आग

गोधरा कांड के दोषी हाजी बिलाल की वड़ोदरा के एक अस्पतला की मौत हो गई है। हाजी बिलाल बड़ोदरा सेंट्रल जेल में उम्र कैद की सजा काट रहा था। बता दें कि गोधरा कांड का दोषी हाजी बिलाल पिछले चार सालों से बीमार चल रहा था। बड़ोदरा की सेंट्रल जेल में सजा काट रहे हाजी बिलाल की 22 नवंबर को तबीयत अचानक बिगड़ गई। उसे सांस लेने में परेशानी हो रही थी। जिसके बाद उसे इलाज के लिए वड़ोदरा के एसएसजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां डॉक्टरों ने हाजी बिलाल को ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा हुआ था। लेकिन 26 नवंबर को ही बिलाल की मौत हो गई।

साल 2002 में गोधरा में साबरमती एक्सप्रेस को जलाने के लिए हाजी बिलाल को स्पेशल कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई थी। लेकिन इसके बाद गुजरात हाईकोर्ट ने हाजी बिलाल की मौत की सजा को उम्र कैद में बदल दिया था। जिसके बाद से ही हाजी बिलाल गुजरात की वड़ोदरा जेल में बंद था।

साबरमती एक्सप्रेस के डब्बे में लगा दी थी आग 

27 फरवरी, 2002 भारत के इतिहास का एक काला अध्याय है, जिसने हिंदू-मुस्लिम भाईचारे की भावना को आग लगा दी थी। इस दिन गुजरात के गोधरा में एक ट्रेन को आग लगा दी गई थी। जिसमें 59 लोगों की जलकर मौत हो गई थी। इस मामले में 28 फरवरी, 2002 को 71 दंगाई गिरफ्तार किए गए थे।इस मामले में हाजी बिलाल मुख्य आरोपी में से एक था। गुजरात हाई कोर्ट ने सभी 11 दोषियों की मौत की सजा को आजीवान कारावास में तब्दील कर दिया था। 

Source Link