National

ऑनलाइन गेमिंग को लेकर एमपी में बनेगा कानून, ड्राफ्ट हुआ तैयार

भोपाल। मध्य प्रदेश में ऑनलाइन गेमिंग के चक्कर में बहुत  बच्चों की जान चली गई है। जिसके बाद शिवराज सरकार ऑनलाइन गेमिंग पर नियंत्रण के लिए जल्द ही एक्ट लाने जा रही है। गृह मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा की मानें तो राज्य सरकार ने इसका ड्राफ्ट भी तैयार कर लिया है।

बताया जा रहा है कि इससे ऑनलाइन गेमिंग से जुड़ी गतिविधियों को नियंत्रित किया जाएगा। कानून अमल में आने पर ऑनलाइन गेमिंग संचालित करने वाली कंपनियों पर शिकंजा कसा जा सकेगा। इसके साथ ही बिना अनुमति इस तरह की गतिविधियां संचालित करने वालों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाही की जा सकेगी।

 

दरअसल फ्री फायर जैसे ऑनलाइन गेम की वजह से कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। बुधवार को भी राजधानी में पांचवीं क्लास के छात्र सुर्यांश ने इस गेम के कारण फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। गृह मंत्री ने कहा कि यह गंभीर विषय है। इस तरह के गेम से दुखद घटनाएं सामने आ रही है। इस तरह ही घटनाओं को रोकने के लिए कानून जल्द लागू किया जाएगा।

पेरेंट्स ने पुलिस को बताया कि मोबाइल के अलावा टीवी में भी वो गेम खेलता था। गेम का बेटे पर इस कदर जुनून सवार था कि उसने गेम फाइटर की ड्रेस भी खुद ही ऑनलाइन मंगाई थी। 3 महीने पहले भी सूर्याश ने सुसाइड करने की कोशिश की थी, लेकिन उस समय उसे मां ने बचा लिया था।

 

वहीं उज्जैन के जीवाजीगंज थाना क्षेत्र में रहने वाले एक किशोर ने मोबाइल गेम में डेढ़ हजार रुपये खर्च होने पर खुद के अपहरण की झूठी कहानी रच डाली थी। डेढ़ हजार रुपये खर्च होने पर माता-पिता की डांट से वो घर छोड़कर इंदौर चला गया था। देवास में भी मोबाइल पर गेम खेलते हुए 11वीं के एक छात्र की मौत का हो गई थी। गेम खेलते-खेलते वो बिस्तर पर गिर गया था और जब परिजन उसे अस्पताल लेकर पहुंचे तो डाक्टरों ने छात्र को मृत घोषित कर दिया था।

Source Link