National

समाजवादी पार्टी को लगा बड़ा झटका, कैराना उम्मीदवार नाहिद हसन गिरफ्तार, गैंगस्टर केस में चल रहे थे फरार

लखनऊ। शामली की कैराना विधानसभा सीट से विधायक नाहिद हसन को उत्तर प्रदेश पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। इसके तुरंत बाद ही पुलिस ने नाहिद हसन को फास्ट ट्रैक कोर्ट के सामने पेश किया। जिसके बाद कोर्ट ने नाहिद हसन को 14 दिन न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। आपको बता दें कि विधानसभा चुनाव के मद्देनजर समाजवादी पार्टी ने नाहिद हसन को कैराना से अपना उम्मीदवार बनाया है। 

सपा उम्मीदवार का नामांकन दाखिल

सपा विधायक नाहिद हसन का नामांकन पत्र शुक्रवार को दाखिल हुआ। दरअसल, सपा विधायक के प्रस्तावकों ने वकील की मौजूदगी में एसडीएम कोर्ट शामली में पर्चा दाखिल किया था। नाहिद हसन कैराना से दो बार के सपा विधायक हैं और उनके खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। इतना ही नहीं साल 2019 में शामिली की स्पेशल कोर्ट ने नाहिद हसन को भगोड़ा घोषित किया था। नाहिद हसन की मां तबस्सुम पूर्व सांसद हैं। भाजपा ने फरार चल रहे नाहिद हसन को टिकट देने पर समाजवादी पार्टी की जमकर आलोचना भी की और इसे पार्टी का ‘जिन्नावाद’ बताया था।

नाहिद हसन ने किया था आत्मसमर्पण

साल 2020 में सपा विधायक नाहिद हसन ने आत्मसमर्पण कर दिया था। हालांकि एक महीने बाद नाहिद हसन को जमानत पर रिहा कर दिया गया था। इसके बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने फरवरी 2021 में नाहिद हसन समेत 40 लोगों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की थी। इसके बाद से नाहिद हसन फरार चल रहे थे। आपको बता दें कि नाहिद हसन के खिलाफ जमीन धोखाधड़ी से लेकर कई तरह के आपराधिक मुकदमे दर्ज है। 

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने नाहिद हसन को टिकट दिए जाने पर समाजवादी पार्टी पर जमकर हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि प्रदेश का अपराधी नंबर 1 बना समाजवादी पार्टी का प्रत्याशी नंबर 1, अखिलेश यादव ने अपनी सरकार में जिस कैराना से हिन्दुओं को पलायन करने पर मजबूर किया था आज उसी विधानसभा क्षेत्र से कुख्यात गैंगस्टर को उम्मीदवार बनाकर समाजवादी पार्टी कैराना को फिर से उसी कालखंड में ले जाना चाहती है!

Source Link