अटकलों के बीच जदयू का बयान, जब तक हैं नीतीश कुमार, तब तक ही बिहार में NDA

वर्तमान में देखे तो बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर राजनीतिक गलियारों में चर्चा गर्म है। अलग-अलग मीडिया रिपोर्टों में उनको लेकर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं। कोई यह कह रहा है कि वे अगले उपराष्ट्रपति बन सकते हैं तो कोई यह कह रहा है कि राज्यसभा के रास्ते मोदी सरकार ने उन्हें बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है। दावा किया जा रहा है कि नीतीश कुमार के दिल्ली जाने के बाद बिहार में भाजपा अपना मुख्यमंत्री बनाएगी। इन सबके बीच भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कुछ ऐसा बयान दे दिया जिसके बाद जदयू ने अपनी तीखी प्रतिक्रिया दी है। दरअसल संजय जायसवाल ने कहा कि नीतीश कुमार अभी मुख्यमंत्री हैं, 2025 के बाद रहेंगे या नहीं रहेंगे, यह पता नहीं है। 
 

इसे भी पढ़ें: जानें कौन हैं बिहार के गौरव बिंदेश्वर पाठक, जिन्होंने सुलभ शौचालय को बनाया इंटरनेशनल ब्रांड

अब संजय जायसवाल के इस बयान पर जदयू की ओर से प्रतिक्रिया आई है। बिहार सरकार में मंत्री और जदयू के वरिष्ठ नेता बिजेंद्र प्रसाद यादव ने कहा कि नीतीश कुमार को लेकर पार्टी कभी भी कोई समझौता नहीं कर सकती है। जब तक नीतीश कुमार हैं, तब तक ही बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन है। इस तरह के बयान से भाजपा और जदयू के बीच तल्खी बढ़ सकती है। बिजेंद्र यादव ने साफ तौर पर कहा है कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में बहुत विकास कार्य हुए हैं। जदयू अपनी नीतियों और सिद्धांतों से कभी समझौता नहीं करेगी। उन्होंने जनादेश को अपमानित नहीं करने की भी चेतावनी दे डाली है। 
 

इसे भी पढ़ें: बिहार में योगी मॉडल की जरूरत? उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद के बयान से छिड़ा सियासी बवाल

आपको बता दें कि नीतीश कुमार के दिल्ली जाने के कयासों को लेकर बिहार भाजपा में काफी खुशी दिखाई दे रही है। बिहार भाजपा को लगता है कि अगर नीतीश कुमार दिल्ली जाएंगे, तभी राज्य में उसे अपना मुख्यमंत्री मिलेगा। आपको बता दें कि बिहार विधानसभा में भाजपा फिलहाल 77 विधायकों के साथ नंबर वन पार्टी है। इस बार के विधानसभा चुनाव में जदयू को सिर्फ 43 सीटें मिली थी और वह तीसरे नंबर की पार्टी थी। एनडीए ने चुनाव से पहले ही नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित कर दिया था। ऐसे में नतीजों के बाद भी नीतीश कुमार ही बिहार के मुख्यमंत्री बने। हालांकि कानून व्यवस्था और शराबबंदी को लेकर विपक्ष खूब आलोचना कर रहा है।

Source Link

DNSP NEWS

Next Post

Matrubhoomi: मुगल शासक शाहजहां के प्यार की निशानी है ताजमहल, जानें इस इमारत से जुड़े रोचक तथ्य

Wed Apr 6 , 2022
आगरा का ताजमहल अपनी नायाब खूबसूरती और भव्यता के कारण पूरी दुनिया के लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र हैं। सात अजूबों में शामिल इस मकबरे को दुनिया के कोने-कोने से लोग देखने के लिए भारत आते हैं। नदी के कितारे बनें ताजमहल को प्यार की निशानी माना जाता है। […]

Breaking News