दशकों पहले काशी से चोरी हुई थी मां अन्नपूर्णा माता की मूर्ति, PM मोदी बोले- हम कनाडा से वापस लेकर आए हैं

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से गुजरात के अडालज में श्री अन्नपूर्णा धाम ट्रस्ट के छात्रावास और शिक्षा परिसर का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि मां के आशीर्वाद से हर बार मुझे किसी न किसी तरह से आपके बीच रहने का मौका मिला है। आज श्री अन्नापूर्णा धाम ट्रस्ट के उद्घाटन के साथ-साथ जन सहायक ट्रस्ट हिरामणी धाम का भूमि पूजन भी हुआ है। 

इसे भी पढ़ें: PM मोदी और बाइडेन की बातचीत के बाद अमेरिका का बड़ा बयान, रूस-यूक्रेन मुद्दे पर भारत अपने फैसले खुद करेगा 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि समृद्धि और धनधान्य की देवी मां अन्नपूर्णा के प्रति हमारी अगाध आस्था रही है। पाटीदार समाज तो धरती माता से सीधे जुड़ा रहा है। मां के प्रति इस अगाध श्रद्धा के चलते ही कुछ महीने पहले मां अन्नपूर्णा की मूर्ति को हम कनाडा से काशी वापस ले आए हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा, पोषण और आरोग्य के क्षेत्र में गुजरात का स्वभाव रहा है कि जिसकी जितनी ताकत हर समाज कुछ न कुछ सामाजिक दायित्व निभाता है। उसमें पाटीदार समाज भी कभी पीछे नहीं रहता है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मां अन्नपूर्णा माता की इस मूर्ति को दशकों पहले काशी से चुराकर विदेशों में पहुंचा दिया गया था। अपनी संस्कृति के ऐसे दर्जनों प्रतीकों को बीते सात-आठ साल में विदेशों से वापस लाया जा चुका है। इसी बीच हमारी परंपरा में भोजन, आरोग्य, शिक्षा पर हमेशा से बल दिया गया है। इन्ही तत्वों का मां अन्नपूर्णा धाम में विस्तार किया गया है। इस आरोग्य धाम से गुजरात के सामान्य मानविकों को लाभ होगा। एक साथ कई लोगों के डायलिसिस और 24 घंटे ब्लड सप्लाई की सुविधा से अनेक मरीज़ों की सेवा होगी। 

इसे भी पढ़ें: मोदी ने शहबाज शरीफ को बधाई दी; कहा-भारत क्षेत्र में आतंकवाद से मुक्ति एवं शांति चाहता है 

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने जिला अस्पतालों में मुफ्त डायलिसिस की जो सुविधा शुरू की है, उस अभियान को आपके ये प्रयास और बल देने वाले हैं। इन सभी प्रयासों और सेवाभाव के लिए आप सभी प्रशंसा के पात्र हैं।

Source Link

DNSP NEWS

Next Post

हार्दिक पटेल को मिली बड़ी राहत, लड़ सकेंगे गुजरात चुनाव, SC ने अपराधी ठहराए जाने पर लगाई रोक

Tue Apr 12 , 2022
सुप्रीम कोर्ट ने पाटीदार आरक्षण आंदोलन के दौरान हुए दंगों और आगजनी मामले में अपील पर फै़सला आने तक कांग्रेस के नेता हार्दिक पटेल की सज़ा पर रोक लगाते हुए कहा कि संबंधित उच्च न्यायालय को सज़ा पर रोक लगानी चाहिए थी। न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर और न्यायमूर्ति विक्रम नाथ […]

Breaking News