शाहबाज शरीफ को बधाई देते हुए मोदी ने साफ कहा- आतंकवाद मुक्त क्षेत्र में शांति और स्थिरता चाहता है भारत

नवाज शरीफ के छोटे भाई शहबाज शरीफ आज पाकिस्तान के प्रधानमंत्री चुने गए हैं। उन्होंने पाकिस्तान के 23वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ भी ले ली है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शहबाज शरीफ को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने के बाद बधाई भी दी है। इसके साथ ही मोदी ने शहबाज शरीफ को आतंकवाद के मुद्दे पर भारत के सख्त रुख से भी अवगत करा दिया है। अपने बधाई संदेश में प्रधानमंत्री मोदी ने साफ कर दिया है कि भारत आतंकवाद मुक्त क्षेत्र में शांति और स्थिरता चाहता है। मोदी ने लिखा कि मुहम्मद शहबाज शरीफ को पाकिस्तान के प्रधान मंत्री के रूप में चुने जाने पर बधाई। भारत आतंक मुक्त क्षेत्र में शांति और स्थिरता चाहता है, ताकि हम अपनी विकास की चुनौतियों पर ध्यान केंद्रित कर सकें और अपने लोगों की भलाई और समृद्धि सुनिश्चित कर सकें।

आपको बता दें कि दोनों ही देशों के बीच आतंकवाद के मुद्दे को लेकर बातचीत बंद है। भारत ने साफ तौर पर कह दिया है कि जब तक पाकिस्तान अपने क्षेत्र में आतंकियों को पनाह देना बंद नहीं करता तब तक उससे बातचीत नहीं होगी। दूसरी और पाकिस्तान की ओर से लगातार कश्मीर राग अलापा जाता है। शहबाज शरीफ ने भी कश्मीर को लेकर अपनी बात रखी है। शहबाज़ शरीफ ने पहले ही भाषण में कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निरस्त करने का मुद्दा उठाते हुए आरोप लगाया कि घाटी में लोगों का ‘खून बह’ रहा है और पाकिस्तान उन्हें ‘कूटनीतिक और नैतिक समर्थन’ देने के साथ-साथ हर अंतरराष्ट्रीय मंच पर यह मुद्दा उठाएगा। इमरान खान का स्थान लेने वाले 70 वर्षीय नेता ने कहा कि वह भारत के साथ अच्छे रिश्ते चाहते हैं, लेकिन कश्मीर मुद्दे के समाधान के बिना इसे हासिल नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि पड़ोस पसंद की बात नहीं होती है, यह ऐसी चीज है जिसके साथ “हमें रहना है” और बदकिस्मती से भारत के साथ पाकिस्तान के रिश्ते शुरू से ही अच्छे नहीं रहे। 

 

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान के 23वें प्रधानमंत्री बने शहबाज शरीफ, सीनेट के चेयरमैन ने दिलाई शपथ, मोदी ने दी बधाई

आपको बता दें कि शहबाज शरीफ ने पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली, जिससे उनके पूर्ववर्ती इमरान खान के खिलाफ आठ मार्च को लाये गये अविश्वास प्रस्ताव के बाद से देश में बनी अनिश्चितता की स्थिति समाप्त हो गयी। सीनेट के अध्यक्ष सादिक संजरानी ने राष्ट्रपति डॉ. आरिफ अल्वी की अनुपस्थिति में 70 वर्षीय शहबाज को पद की शपथ दिलाई। अल्वी पीएमएल-एन नेता के शपथ लेने से पहले ‘अस्वस्थता’ के कारण छुट्टी पर चले गए। इससे पहले, पूर्व विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने अपनी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के संसद में मतदान में भाग नहीं लेने और वॉकआउट करने की घोषणा की थी, जिसके बाद शहबाज प्रधानमंत्री पद की दौड़ में अकेले उम्मीदवार रह गये थे। स्पीकर अयाज सादिक ने इस सत्र की अध्यक्षता की और नतीजों की घोषणा की जिसके अनुसार, ‘‘शरीफ को 174 वोट मिले और उन्हें पाकिस्तान इस्लामी गणराज्य का प्रधानमंत्री घोषित किया जाता है।’’ 

Source Link

DNSP NEWS

Next Post

भारत और अमेरिका के बीच 2+2 की बैठक, राजनाथ सिंह और एस जयशंकर से मिले अमेरिकी राष्ट्रपति

Mon Apr 11 , 2022
भारत और अमेरिका के बीच आज टू प्लस टू की बातचीत हुई है। इस बैठक के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वाशिंगटन में व्हाइट हाउस में आज अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से मुलाकात की। भारत-अमेरिका आभासी शिखर सम्मेलन में भाग लिया जिसे प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और […]

You May Like

Breaking News