National

67 लाख रुपए देने के बाद भी BSP ने नहीं दिया टिकट, थाने में इंस्पेक्टर के सामने फूट-फूटकर रोए अरशद राणा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है और सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में भगदड़ मची हुई है तो वहीं दूसरी तरफ बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की स्थिति भी कुछ ज्यादा ठीक नहीं है। आपको बता दें कि बसपा प्रभारी अरशद राणा ने गुरुवार की शाम मुजफ्फरनगर के थाना नगर कोतवाली में पार्टी पर टिकट बिक्री का आरोप लगाते हुए फूट-फूटकर रोने लगे। 

बसपा पर लगा टिकट बिक्री का आरोप

बसपा प्रभारी अरशद राणा ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रभारी शमसुद्दीन राईन पर 67 लाख रुपए हड़पने का आरोप लगाया है। उन्होंने बताया कि शमसुद्दीन राईन ने मुझे भरोसा दिलाया कि चरथावल विधानसभा सीट पर मुझे ही प्रत्याशी नियुक्त किया गया है। ऐसे में मुझे जी-जान से मेहनत करने के लिए कहा गया। लेकिन चुनावों की घोषणा के बाद जब मैंने बसपा जिलाध्यक्ष सतीश कुमार से चरथावल विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के लिए पार्टी से टिकट की मांग की तो उन्होंने मुझे 50 लाख रुपए का इंतेजाम करने के लिए कहा।

इंसाफ नहीं मिला तो आत्मदाह करूंगा

अरशद राणा ने बताया कि मैंने 50 लाख रुपए देने के लिए हामी भर दी थी। इसके बावजूद चरथावल विधानसभा से सलमान सईद को पार्टी ने टिकट दे दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अरशद राणा ने शमसुद्दीन राईन के खिलाफ थाना नगर कोतवाली में तहरीर दी है। जिसके बाद अरशद राणा को पुलिस इंस्पेक्टर ने कार्यवाही करने का आश्वासन दिया। इसके बावजूद उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर मुझे इंसाफ नहीं मिला तो मैं बसपा मुख्यालय के सामने जाकर आत्मदाह कर लूंगा।

 

Source Link