बॉस ने की कर्मचारी से ऐसी घिनौनी मांग, जिसे सुनकर ऑफिस के बाहर लगा ली खुद को आग

उत्तर प्रदेश से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई जहां एक व्यक्ति ने जब अपने बॉस से अपने ट्रांसफर की बात कहीं तो बदले में उसके बॉस ने आदमी से कहा कि वह अपनी पत्नी को एक रात के लिए मेरे पास भेज दे, तब मैं तेरा ट्रांसफर कर दूंगा। इस अपनाम से आहत आदमी ने खुद को ऑफिस के बाहर आग लगा ली। उत्तर प्रदेश बिजली विभाग में काम करने वाले 45 वर्षीय गोकुल प्रसाद ने जूनियर इंजीनियर के कार्यालय के बाहर खुद पर डीजल डालकर खुद को आग लगा ली। प्रसाद ने उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (यूपीसीएल) में लखीमपुर खीरी शहर में बिजली लाइनमैन के रूप में काम किया। खुद को आग लगाने के तुरंत बाद उन्हें लखनऊ के एक अस्पताल ले जाया गया, लेकिन गंभीर रूप से जलने के कारण उन्होंने दम तोड़ दिया।
 

इसे भी पढ़ें: केजरीवाल ने डॉ. अंबेडकर वरिष्ठ नागरिक गृह का किया उद्घाटन, बोले- बुजुर्गों की सभी जरूरतों का रखा गया ख्याल

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में तैनात उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (यूपीपीसीएल) के एक लाइनमैन ने अवर अभियंता (जेई) की कथित प्रताड़ना और एक रात के लिए पत्नी की मांग करने से तंग आकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने इसकी जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि इस मामले में अवर अभियंता और एक अन्‍य लाइनमैन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर दोनों को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस ने बताया कि मृतक गोकुल की पत्नी राजकुमारी ने पुलिस में दर्ज कराई गई प्राथमिकी में अवर अभियंता द्वारा पैसे की जबरन वसूली और अनैतिक मांगों के आरोपों को दोहराया और त्रासदी के लिए अभियंता के साथ ही एक लाइनमैन को भी जिम्मेदार ठहराया। 
 

इसे भी पढ़ें: खरगोन मामले में गलत ट्वीट कर फंसे दिग्विजय, शिवराज ने दी चेतावनी, नरोत्तम मिश्रा ने कहा- वैधानिक कार्रवाई की जा सकती है

राजकुमारी देवी ने अपनी तहरीर में आरोप लगाया है कि अवर अभियंता नागेंद्र शर्मा और लाइनमैन जगतपाल तबादले के लिए निरंतर मानसिक रूप से उत्पीड़न कर रहे थे और पलिया तबादला कराने के नाम पर एक लाख रुपये तथा एक रात के लिए प्रार्थिनी (राजकुमारी देवी) को अपने पास बुला रहे थे। पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने सोमवार को पत्रकारों को बताया कि कनिष्ठ अभियंता और लाइनमैन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। उन्होंने कहा कि मृतक की मौत से पहले के वीडियो स्टेटमेंट तथा एमवीएनएल की विभागीय जांच को पुलिस जांच के दौरान रिकॉर्ड में लिया जाएगा और उचित कार्रवाई की जाएगी। 
वीडियो का गंभीरता से संज्ञान लेते हुए खीरी के जिलाधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह ने आरोपी अवर अभियंता और एक लाइनमैन जगतपाल को निलंबित करने के निर्देश दिये, जिसके बाद अधीक्षण अभियंता (एसई), मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (एमवीएनएल) राम शबद ने दोनों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। एमवीएनएल के मुख्य अभियंता ए के सिंह ने मामले की जांच के लिए अधिशासी अभियंता रजनीश चंद्र अनुरागी और शैलेंद्र कुमार तथा सहायक अभियंता अंकिता रत्न के तीन सदस्यीय समिति गठित कर मामले की जांच का आदेश दिया और समिति को एक सप्ताह के भीतर अपनी रिपोर्ट देने को कहा। 
जानकारी के मुताबिक लखीमपुर खीरी के गोला फीडर के तहत अलीगंज कस्बे में तैनात लाइनमैन गोकुल (42) ने शनिवार देर रात खुद पर पेट्रोल डालकर आग लगा ली। लाइनमैन ने पलिया के हाइड्रिल कॉलोनी स्थित अवर अभियंता (जूनियर इंजीनियर) नागेंद्र शर्मा के आवास के सामने यह कदम उठाया। गंभीर हालत में गोकुल को लखीमपुर में भर्ती कराया गया जहां से उसे लखनऊ रेफर कर दिया गया। गोकुल ने रविवार की रात लखनऊ में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। उल्लेखनीय है कि गोकुल का मृत्यु से पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें गोकुल ने तबादले को वापस लेने के एवज में जबरन वसूली और अवर अभियंता द्वारा अनैतिक मांग किये जाने का आरोप लगाया था। गोकुल को पहले पलिया उपकेंद्र के मानगपुर में तैनात किया गया था लेकिन कुछ हफ्ते पहले उसका तबादला अलीगंज में कर दिया गया था।

Source Link

DNSP NEWS

Next Post

हिंदू वाहिनी के नेता होटल में पाए गए मृत, कांग्रेस ने बोम्मई सरकार को घेरा, कहा- मंत्री ईश्वरप्पा को किया जाए गिरफ्तार

Tue Apr 12 , 2022
बेंगलुरू। कर्नाटक के उडुपी में हिंदू वाहिनी के नेशनल सेक्रेटरी और ठेकेदार संतोष पाटिल होटल के एक कमरे में मृत पाए गए। इस संबंध में कांग्रेस ने प्रदेश की बसवराज बोम्मई सरकार पर निशाना साधते हुए मंत्री केएस ईश्वरप्पा की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। आपको बता दें कि […]

You May Like

Breaking News