बीरभूम हत्या: मुंबई से गिरफ्तार किए गए चार लोगों को कोलकाता लाया गया

कोलकाता। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) बीरभूम हत्याकांड के सिलसिले में मुंबई से गिरफ्तार किए गए चार लोगों को शुक्रवार सुबह कोलकाता वापस लेकर आया। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।
अधिकारी ने बताया कि मुंबई की एक अदालत ने इन आरोपियों की 10 अप्रैल तक की ट्रांजिस रिमांड की अनुमति दी है, जिसके बाद उन्हें वापस कोलकाता लाया गया।
उन्होंने कहा, ‘‘हम जांच में तेजी लाने के लिए उन्हें रामपुरहाट लेकर जाएंगे। उनसे वहां गिरफ्तार किए गए अन्य आरोपियों के साथ पूछताछ की जाएगी।’’

इसे भी पढ़ें: हार के बाद ऋषभ पंत ने भरे 12 लाख, धीमी ओवर गति के लिये भारी जुर्माना

सीबीआई ने बृहस्पतिवार को पश्चिम बंगाल के निवासी बप्पा एस के उर्फ ​​साल मोहम्मद, साबू एस के उर्फ ​​सदरिल एस के, ताज मोहम्मद उर्फ ​​चांद और सिराजुल एस के उर्फ ​​पोल्टू को मुंबई से गिरफ्तार किया था। चारों आरोपी हत्याओं के फौरन बाद रामपुरहाट के बोगतुई गांव से मुंबई भाग गये थे।
सीबीआई ने बोगतुई गांव में 21 मार्च को लोगों की हत्या के मामले की जांच संभालने के बाद इस संबंध में पहली बार लोगों को गिरफ्तार किया है। इस मामले में पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए कम से कम 10 लोग सीबीआई की हिरासत में हैं, जिनमें तृणमूल के ब्लॉक अध्यक्ष अनारुल हुसैन भी शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: RBI की मौद्रिक समीक्षा बैठक से पहले शेयर बाजारों में उतार-चढ़ाव,सेंसेक्स लुढ़का

सीबीआई को कलकत्ता उच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार, 21 मार्च को बीरभूम के बोगतुई में हुई हिंसा की जांच सौंपी गई थी। तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय नेता भादू शेख की हत्या के बाद कुछ लोगों ने बोगतुई के कुछ घरों में आग लगा दी थी, जिसके कारण नौ लोगों की झुलसने से मौत हो गई थी।

Source Link

DNSP NEWS

Next Post

शादी के बाद पति के GAY होने का चला पता, पत्नी ने ऐसे सिखाया सबक

Fri Apr 8 , 2022
ठाणे। महाराष्ट्र के ठाणे जिले की एक अदालत ने नवी मुंबई के 32 वर्षीय उस व्यक्ति की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी है, जिसने समलैंगिक होने की बात अपनी पत्नी से छुपाकर उसे कथित रूप से धोखा दिया। व्यक्ति पर यह भी आरोप है कि उसने अपने एक समलैंगिक […]

Breaking News