हार्दिक पटेल को मिली बड़ी राहत, लड़ सकेंगे गुजरात चुनाव, SC ने अपराधी ठहराए जाने पर लगाई रोक

सुप्रीम कोर्ट ने पाटीदार आरक्षण आंदोलन के दौरान हुए दंगों और आगजनी मामले में अपील पर फै़सला आने तक कांग्रेस के नेता हार्दिक पटेल की सज़ा पर रोक लगाते हुए कहा कि संबंधित उच्च न्यायालय को सज़ा पर रोक लगानी चाहिए थी। न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर और न्यायमूर्ति विक्रम नाथ की खंडपीठ ने यह भी कहा कि पटेल की सजा पर रोक लगाने के लिए गुजरात उच्च न्यायालय के लिए यह एक उपयुक्त मामला था। इसलिए शीर्ष अदालत ने पटेल को राहत देने का फैसला किया।

इसे भी पढ़ें: गुजरात के हिम्मतनगर में फिर से भड़की साम्प्रदायिक हिंसा, चार लोगों को हिरासत में लिया गया

न्यायालय ने निर्देश दिया। यह मामला राज्य भर में पाटीदार आंदोलन के बाद हार्दिक के खिलाफ अहमदाबाद डिपार्टमेंट ऑफ क्राइम ब्रांच (DCB) पुलिस स्टेशन द्वारा 2015 में दर्ज प्राथमिकी से संबंधित है। जनवरी 2020 में उन्हें जमानत देते हुए, अहमदाबाद की एक ट्रायल कोर्ट ने एक शर्त लगाई थी, जिसमें उन्हें राज्य छोड़ने से पहले अदालत की अनुमति लेने का निर्देश दिया गया था। बाद में पटेल ने इस शर्त को गुजरात हाई कोर्ट में चुनौती दी। हालांकि, एकल-न्यायाधीश पीठ ने याचिका खारिज कर दी थी और जमानत की शर्त को बरकरार रखा था।

इसे भी पढ़ें: दशकों पहले काशी से चोरी हुई थी मां अन्नपूर्णा माता की मूर्ति, PM मोदी बोले- हम कनाडा से वापस लेकर आए हैं

इसके बाद हार्दिक ने हाई कोर्ट के आदेश को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट का रुख किया। निचली अदालत के आदेश को रद्द करते हुए सुप्रीम कोर्ट की दो-न्यायाधीशों की खंडपीठ ने कहा कि निचली अदालत द्वारा लगाई गई शर्त “अत्यधिक कठिन और अनुपातहीन” है। 

Source Link

DNSP NEWS

Next Post

पंजाब में जल्द हो सकता है 300 यूनिट मुफ्त बिजली का ऐलान, केजरीवाल के साथ चर्चा करेंगे भगवंत मान

Tue Apr 12 , 2022
नयी दिल्ली। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात करेंगे। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच में पंजाबवासियों को 300 यूनिट मुफ्त बिजली मुहैया कराने के संबंध पर चर्चा होगी। आम आदमी पार्टी के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री भगवंत मान […]

Breaking News