रोपवे में अभी भी फंसी 40 जिंदगियां, 8 लोगों को सुरक्षित निकाला गया, हेलीकॉप्टर की मदद से भेजा गया खाना

रोपवे में अभी भी फंसी 40 जिंदगियां, 8 लोगों को सुरक्षित निकाला गया, हेलीकॉप्टर की मदद से भेजा गया खाना

देवघर। झारखंड के देवघर जिले में बाबा बैद्यनाथ मंदिर के पास त्रिकुट पहाड़ी पर 12 रोपवे ट्रॉली आपस में टकरा गईं। इस हादसे में एक व्यक्ति के मारे जाने की खबर है। वहीं भारतीय वायुसेना ने रोपवे में फंसे लोगों को निकालने का जिम्मा उठाया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, रोपवे में फंसे लोगों को वायुसेना के हेलीकॉप्टर की मदद से राशन पानी मुहैया कराया गया। इसके अतिरिक्त कम से कम 8 लोगों को निकाला भी जा चुका है। 

रोपवे में 48 लोग फंसे

माचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, आईटीबीपी के पीआरओ विवेक पांड ने बताया कि 12 ट्रालियों में 48 लोगों के फंसे होने की हमें सूचना मिली थी। थोड़ी देर पहले 60 फीट नीचे वाली ट्राली से 4 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला गया। एक अन्य ट्राली से भी 4 लोगों को निकाला है। कुल 8 लोग निकाले गए हैं।

उन्होंने बताया कि रोपवे में बाकी के फंसे 40 लोगों को निकालने के लिए ऑपरेशन जारी है। उन्हें खाना भी पहुंचाया जा रहा है। सेना, एनडीआरएफ, वायुसेना, स्थानीय पुलिस और प्रशासन के द्वारा बचाव अभियान चलाया जा रहा है। आज देर शाम तक शायद हम सभी लोगों को सुरक्षित ट्रालियों से बाहल निकाल लें। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, रोपवे में तय ट्रालियों से ज्यादा 3 ट्रालियां लगाई गई थीं। 

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बताया कि एनडीआरएफ, भारतीय वायुसेना और गरुड कमांडो के द्वारा सहायता ली जा रही है। जिन्होंने उस रोपवे को बनाया था उनकी टीम भी वहां पहुंच गई है। बचाव के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं। चीज़ों पर हम लोगों की नज़र हैं। आपको बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रोपवे हादसे की जानकारी ली है और बचाव अभियान पर अपनी नजर बनाए हुए हैं।

Source Link

DNSP NEWS

Next Post

अलग-अलग शहरों में सांप्रदायिक तनावों पर बोले राहुल गांधी, नफरत और हिंसा देश को कमजोर कर रही है

Mon Apr 11 , 2022
नयी दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि नफरत, हिंसा और अलगाव भारत को कमजोर कर रहे हैं तथा ऐसे में न्यायप्रिय और समावेशी भारत के लिए खड़े होने की जरूरत है। उन्होंने राम नवमी पर देश के कुछ स्थानों तथा यहां जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय […]

You May Like

Breaking News