गलत खून चढ़ाने पर पैथोलॉजी लैब और सर्जन दोषी, 45 लाख रूपये लगाया जुर्माना Aligarh News

गलत खून चढ़ाने पर पैथोलॉजी लैब और सर्जन दोषी, 45 लाख रूपये लगाया जुर्माना

अलीगढ़ः जिला उपभोक्ता आयोग के अध्यक्ष न्यायाधीश हसनैन कुरैशी, सदस्य आलोक उपाध्याय व पूर्णिमा सिंह ने युवती को लापरवाही से गलत खून चढ़ाने और हालत बिगड़ने की याचिका पर सुनवाई करते हुए एक सर्जन, निजी लैब और जिला अस्पताल की लैब पर 45 लाख रूपये जुर्माना लगाया है। युवती के इलाज पर हुए खर्च का भी हर्जाना देने के आदेश दिए हैं।

हाथरस जिले के सिकंदराराऊ निवासी रामजीलाल ने याचिका में कहा था कि उनकी बेटी को 26 फरवरी 2009 को पैर फ्रैक्चर हो गया था। इलाज के लिए डा. ज्ञान कुमार के यहां लाया गया। ऑपरेशन के लिए खून मांगा। खून के लिए नमूना अशोका पैथोलॉजी भेजा। जांच में उसके एबीओ-बी पॉजिटिव खून को एबी गु्रप बता दिया। पैथोलॉजी की रिपोर्ट के आधार पर 27 फरवरी को जिला अस्पताल की ब्लड बैैंक से शुल्क जमा कर खून भी ले लिया। वही खून ऑपरेशन के दौरान चढ़ा दिया। बेटी की हालत बिगड़ने लगी। डॉक्टर के कहने पर पुनः खून की जांच कराई तो वही रिपोर्ट दी गई। डॉक्टर ने दो मार्च को दूसरी पैथोलॉजी से जांच कराई तो वहां से बी पॉजिटिव बताया गया। डॉक्टर ने बेटी को आगरा रेफर कर दिया। वहां अलग-अलग पैथोलॉजी से जांच कराई तो एबीओ-बी पॉजिटिव बताया गया। इसके बाद इलाज किया और बेटी की जान बच सकी। जेवरात बेचकर व कर्ज लेकर इलाज कराया। आयोग का तर्क है कि डा. ज्ञान कुमार को अपने यहां जांच करनी चाहिए थी या अपने कर्मचारी को सैंपल लेकर भेजना था और खून भी अपने कर्मचारी से मंगवाना था। जिला अस्पताल को भी खून देते समय सैंपल की जांच करनी चाहिए थी।

Posted By: Udayveer Singh, Aligarh

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.