भारतीय तेज गेंदबाजों का शानदार प्रदर्शन, आस्ट्रेलिया ने नौ विकेट पर 241 रन पर पारी घोषित की

गोल्ड कोस्ट। भारतीय तेज गेंदबाजों ने नयी गुलाबी गेंद से शानदार प्रदर्शन किया जिसके बाद दबाव में आयी आस्ट्रेलियाई टीम की कप्तान मेग लैनिंग ने रविवार को यहां एकमात्र दिन-रात्रि महिला टेस्ट के चौथे और अंतिम दिन अपनी पहली पारी नौ विकेट पर 241 रन पर समाप्त घोषित करने का दिलचस्प फैसला किया। ऑस्ट्रेलिया ने तीन विकेट पर 143 रन पर खेलना शुरू किया। एलिस पैरी (नाबाद 68) और एशले गार्डनर (51) 89 रन की साझेदारी बना चुकी थी जिसके बाद भारतीय तेज गेंदबाजों ने आस्ट्रेलिया के बल्लेबाजी क्रम के चरमराने की शुरूआत की और उसे चार विकेट पर 208 रन से नौ विकेट पर 240 रन तक पहुंचा दिया। ऐसा लगता है कि लैनिंग ने मैच को आगे बढ़ाने के प्रयास में पूरी टीम के सिमटने से पहले पहली पारी घोषित कर दी, जिसके बाद डिनर कर दिया गया। 

भारतीय टीम 136 रन की बढ़त मिली। उसने शनिवार को सात विकेट पर 377 रन पर पहली पारी घोषित की थी। अनुभवी तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी ने तीसरे दिन शुरूआती दो विकेट झटके थे। पूजा वस्त्राकर ने तीन खिलाड़ियों को आउट किया जबकि दीप्ति शर्मा और मेघना सिंह को दो दो विकेट मिले। दीप्ति शर्मा ने गार्डनर को पवेलियन भेजा, जिसके बाद पदार्पण कर रही मेघना सिंह ने फिर से अपनी आउट स्विंग लेती गेंदों से बल्लेबाजों को परेशान किया और भारत ने 81वें ओवर में नयी गेंद लेने के बाद चार विकेट झटक लिये। पूजा वस्त्राकर और झूलन गोस्वामी भी कसी गेंदबाजी से दबदबा बनाये थीं। आस्ट्रेलिया के पारी घोषित करने के बाद खेल में करीब 70 ओवर का खेल बचा था और पहले दो दिन बारिश के कारण काफी खेल खराब होने के बाद संभावित नतीजा ड्रा ही दिख रहा है। 
टेस्ट क्रिकेट में 78 से ज्यादा औसत से रन जुटाने वाली पैरी भाग्यशाली रहीं जो कम से कम तीन बार आउट होने से बचीं। एक बार वह पगबाधा की अपील पर बची और दो बार भारतीय खिलाड़ियों ने उनका कैच छोड़ दिया। मेघना ने अपना पहला टेस्ट विकेट खूबसूरत आउट स्विंग गेंद पर एनाबेल सदरलैंड के रूप में झटका जिनका कैच विकेटकीपर तानिया भाटिया ने लपका। उनका दूसरा विकेट सोफी मोलिन्यु का रहा जो उनकी इनस्विंगर का शिकार बनीं। पूजा वस्त्राकर ने जार्जिया वारेहम को विकेट के पीछे कैच आउट कराया। ऑफ स्पिनर दीप्ति शर्मा ने दिन का अपना दूसरा विकेट डार्सी ब्राउन के रूप में झटका। भारतीय तेज गेंदबाजों ने प्रतिद्वंद्वी टीम की गेंदबाजों से बेहतर गेंदबाजी की।

Source Link

Leave a Reply