जानते थे कि दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ मैच मुश्किल होगा: धोनी

दुबई| चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने रविवार को यहां चार विकेट की जीत से इंडियन प्रीमियर लीग के फाइनल में प्रवेश करने के बाद कहा कि वे जानते थे कि दिल्ली कैपिटल्स के गेंदबाजी आक्रमण को देखते हुए पहला क्वालीफायर मैच मुश्किल होगा।

धोनी ने फिर फिनिशिर की भूमिका निभायी और अंत में छह गेंदों में एक छक्के और तीन चौकों से नाबाद 18 रन बनाकर दाो गेंद रहते जीत सुनिश्चित की। उनसे पहले रितुराज गायकवाड़ (70) और रोबिन उथप्पा (63) ने अर्धशतकीय पारियां खेलकर दूसरे विकेट के लिये 110 रन की साझेदारी निभायी थी।

धोनी ने मैच के बाद कहा, ‘‘मेरी पारी महत्वपूर्ण थी। दिल्ली कैपिटल्स गेंदबाजी आक्रमण अच्छा है। उन्होंने परिस्थितियों का पूरा फायदा उठाया इसलिए हम जानते थे कि यह मैच हमारे लिए आसान नहीं रहने वाला था। ’’ सलामी बल्लेबाज पृथ्वी साव (60 रन) और कप्तान ऋषभ पंत (नाबाद 51 रन) के अर्धशतक की बदौलत दिल्ली कैपिटल्स की टीम ने बल्लेबाजी का न्यौता मिलने के बाद पांच विकेट पर 172 रन का स्कोर बनाया था।

अपनी पारी के बारे में धोनी ने कहा, ‘‘मैंने टूर्नामेंट में ज्यादा अच्छी पारियां नहीं खेली हैं लेकिन मैं गेंद को देखकर खेलना चाहता था। मैं नेट पर अच्छी बल्लेबाजी कर रहा था। लेकिन ज्यादा नहीं सोच रहा था क्योंकि अगर आप बल्लेबाजी करते हुए ज्यादा सोचते हो तो अपनी रणनीति खराब कर देते हो। ’’

उन्होंने शारदुल ठाकुर को बल्लेबाजी क्रम में ऊपर भेजने के फैसले पर कहा, ‘‘शारदुल ठाकुर ने हाल के दिनों में अच्छी बल्लेबाजी की है इसलिए उसे ऊपर भेजा गया। ’’

उथप्पा के बारे में धोनी ने कहा, ‘‘रॉबिन हमेशा से ऊपर बल्लेबाजी का लुत्फ उठाता है। मोईन अली तीसरे नंबर पर शानदार रहे हैं। लेकिन हमने उनके लिये ऐसी परिस्थितियां बना दी हैं कि कोई भी तीसरे नंबर पर जरूरत के हिसाब से बल्लेबाजी कर सकता है। ’’

धोनी ने रितुराज के बारे में कहा, ‘‘जब मैं और रितुराज बात करते हैं तो यह काफी सरल होती है। मैं जानता चाहता हूं कि वह क्या सोच रहा है। यह देखकर अच्छा लगता है कि उसने काफी सुधार किया है। वह ऐसा खिलाड़ी है जो पूरे 20 ओवर तक बल्लेबाजी करना चाहता है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘पिछले सत्र में पहली बार हम प्ले आफ के लिये क्वालीफाई नहीं कर पाये थे लेकिन हमने इस सत्र में शानदार वापसी की। ’’

दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान ऋषभ पंत ने करीबी हार के बाद कहा, ‘‘ निश्चित रूप से यह बहुत ही निराशाजनक हार थी और मेरे पास शब्द नहीं है कि मैं इस (अंतिम ओवर में फैसले की) निराशा को बयां कर सकूं। मुझे लगा कि टॉम कुरेन ने इस मैच में बेहतरीन गेंदबाज़ी की, तो उन्हें अंतिम ओवर देना सही रहेगा। हमने एक अच्छा स्कोर खड़ा किया था। हम अगले मैच में अपनी गलतियों की सुधारने की पूरी कोशिश करेंगे ताकि फाइनल तक पहुंच सकें। ’’

‘प्लेयर आफ द मैच’ गायकवाड़ ने कहा, ‘‘मैं क्रीज पर शांत रहने की कोशिश करता हूं। हर मैच नया होता है इसलिए हमें शुरु से ही शुरुआत करनी होती है। पॉवरप्ले बहुत महत्वपूर्ण था, विकेट पर गेंद थोड़ी सी रूककर भी आ रही थी। रोबिन ने सचमुच बेहतरीन बल्लेबाजी की। उनके सामने खेलने से मेरे लिए भी बल्लेबाजी भी आसान हो गई।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply