भारतीय महिला टीम ने इंग्लैंड को 4 विकेट से हराया, मिताली राज ने खेली नाबाद अर्धशतकीय पारी

वारसेस्टर। कप्तान मिताली राज की 75 रन की नाबाद पारी और आखिरी ओवरों में छठे विकेट के लिए हरफनमौला स्नेह राणा (24) के साथ 50 रन की साझेदारी के दम पर भारतीय महिला टीम ने शनिवार को तीसरे एकदिवसीय मैच में इंग्लैंड को चार विकेट से हराकर तीन मैचों की श्रृंखला में सांत्वना जीत दर्ज की। इंग्लैंड की महिला टीम ने शुरूआती दो मैच जीतकर श्रृंखला में पहले ही 2-0 से अजेय बढ़त कायम कर ली थी। बारिश से प्रभावित 47-47 ओवर के मैच में इंग्लैंड की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए पारी की आखिरी गेंद पर 219 रन पर सिमट गयी। भारत ने 46.3 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर लक्ष्य हासिल कर लिया। 

इसे भी पढ़ें: भारत का सूपड़ा साफ होने का खतरा, हरमनप्रीत का लचर प्रदर्शन चिंता का विषय 

मैन ऑफ द मैच मिताली ने चौका लगाकर भारत को शानदार जीत दिलायी। उन्होंने 86 गेंद की नाबाद पारी में आठ चौके लगाये। अपनी इस शानदार पारी के दौरान मिताली अंतरराष्ट्रीय महिला क्रिकेट के तीनों प्रारूपों (टेस्ट, एकदिवसीय और टी20 अंतरराष्ट्रीय में मिलाकर) में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली खिलाड़ी बन गयीं। वह लक्ष्य का पीछा करने के दौरान 24वें ओवर में नैट साइवर की गेंद पर चौका लगा इंग्लैंड की पूर्व दिग्गज चार्लोट एडवर्ड (10,273) को पछाड़कर सबसे ज्यादा रन बनाने वाली खिलाड़ी बनीं। लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत को स्मृति मंधाना (49) और शेफाली वर्मा (19) ने नौ ओवर में 46 रन की साझेदारी कर शानदार शुरूआत दिलायी। केट क्रास की गेंद पर शेफाली के आउट होने के बाद क्रीज पर आयी जेमिमाह रोड्रिग्ज ने चार रन बनाने के लिए 21 गेंद गंवा दिये। वह सोफी एक्लेस्टोन का शिकार बनीं।

मंधाना रन गति तेज करने के चक्कर में सराह ग्लेन की गेंद पर पगबाधा हो गयीं। वह एक रन से अर्धशतक बनाने से चूक गयीं। उन्होंने 57 गेंद की अपनी पारी में आठ शानदार चौके लगाये। कप्तान मिताली राज और उपकप्तान हरमनप्रीत कौर ने चौथे विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी निभाई। हीथर नाइट की गेंद पर पगबाधा होने से पहले हरमनप्रीत ने 38 गेंद में 16 रन की पारी खेली। दीप्ति शर्मा भी जरूरी रन गति के दबाव को नहीं झेल सकीं और 25 गेंद में 18 रन बनाकर पवेलयन लौट गयीं। मिताली को इसके बाद स्नेह राणा के रूप मे अच्छा साथी मिला और दोनों ने आखिरी के ओवरों में तेजी से रन जुटाये। स्नेह ने 22 गेंद में तीन चौके की मदद से 24 रन बनाये। 

इसे भी पढ़ें: इस बार धर्मशाला में नहीं खेला जाएगा टी20 वर्ल्ड कप का कोई भी मुकाबला, क्रिकेटप्रेमी निराश 

मिताली ने 41वें ओवर मे चौका लगाकर श्रृंखला का अपना लगातार तीसरा और करियर का 58वां अर्धशतक पूरा किया। इससे पहले भारतीय स्पिनरों ने नियमित अंतराल पर विकेट चटकाकर इंग्लैंड को अच्छी शुरूआत के बाद बड़ा स्कोर खड़ा करने से रोक दिया। इंग्लैंड की ओर से साइवर ने 49 और कप्तान हीथर नाइट ने 46 रन का योगदान दिया। भारत की ओर से दीप्ति सबसे सफल गेंदबाज रहीं, उन्होंने 10 ओवर में 47 रन देकर तीन विकेट लिये। सोफिया डंकले (28) और केट क्रास (नाबाद 16)ने आखिरी ओवरों में तेजी से रन बनाकर स्कोर 219 तक पहुंचाने में मदद की।

भारत के लिए स्नेह , पूनम यादव और हरमनप्रीत कौर ने स्पिन गेंदबाजी से एक-एक विकेट लिये। तेज गेंदबाल शिखा पांडे और झूलन गोस्वामी को भी एक-एक सफलता मिली। शिखा ने टैमी ब्यूमोंट (0) को पगबाधा कर भारतीय टीम को शुरुआती सफलता दिलायी। इसके बाद सलामी बल्लेबाज लॉरेन विनफील्ड हिल (36) और कप्तान हीथर नाइट ने दूसरे विकेट के लिए 67 रन की साझेदारी के दौरान आसानी से रन जुटाये। स्नेह ने विनफील्ड हिल को डीप मिडविकेट पर शिखा के हाथों कैच कराकर इस साझेदारी को तोड़ा। उन्होंने 52 गेंद में 36 रन की पारी में पांच चौके लगाये। शानदार लय में चल रहीं नताली साइवर ने इसके बाद 59 गेंद की में पांच चौके की मदद से 49 रन की पारी खेली। दीप्ति की गेंद पर हरमनप्रीत ने शानदार कैच लपककर उन्हें अर्धशतक बनाने से रोक दिया। एमी जोन्स (17) अच्छी शुरूआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहीं। टीम की आखिरी बल्लेबाज केट क्रास ने अंतिम ओवर में छक्का और चौका लगाकर स्कोर 219 रन तक पहुंचाया।

Source Link

Leave a Reply