PM CARES Fund पर सवाल उठाने वाला विपक्ष इसके सहयोग से निर्मित Oxygen Plants का श्रेय लेने में आगे

पीएम केयर्स फंड अक्सर विपक्षी नेताओं के आलोचना का केंद्र रहा है। विपक्षी दल के नेता लगातार इसको लेकर सवाल करते रहते हैं और सरकार से जवाब मांगते हैं। लेकिन पीएम केयर्स फंड को लेकर उस समय यह सभी विपक्षी नेता चुप्पी साध जाते हैं जब इस फंड के इस्तेमाल से बनाए गए ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट का उद्घाटन किया जाता है। इतना ही नहीं, इस फंड के इस्तेमाल से बने ऑक्सीजन प्लांट का विभिन्न राज्यों में विभिन्न दलों के राजनेताओं द्वारा धूमधाम से उद्घाटन किया जाता है। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 35 प्रदेशों और केंद्र शासित प्रदेशों में ऑक्सीजन संयंत्र समर्पित किया। यह सभी प्रधानमंत्री की और फंड की मदद से बनाए गए हैं।
दिल्ली और झारखंड सरकार ने पहले ही किया उद्घाटन
पीएम केयर्स फंड पर उठाए जा रहे सवाल के मायने इसी से निकाला जा सकता है कि प्रधानमंत्री के उद्घाटन करने से पहले ही दिल्ली और झारखंड की सरकारों ने इस फंड के इस्तेमाल से बनाए गए ऑक्सीजन प्लांट्स का उद्घाटन कर दिया। केंद्र सरकार और भाजपा भी इस बात को लगातार मान रही है कि प्रधानमंत्री केयर फंड को बार-बार बदनाम करने के बावजूद विपक्ष शासित राज्यों के नेताओं ने पीएम केयर्स फंड के सहयोग से जिन ऑक्सीजन प्लांट पर स्थापित किया गया है उसका उद्घाटन किया है और खुद श्रेय भी ले रहे हैं। वहीं दिल्ली की बात करें तो 6 अक्टूबर को दिल्ली सरकार के कई मंत्रियों द्वारा उद्घाटन किए गए 27 ऑक्सीजन प्लांटों में से 14 पीएम केयर्स फंड से बनाए गए हैं। बाकी के प्लांट के लिए उद्योग निकायों द्वारा वित्त पोषित किया गया है। भले ही इन प्लांटों को प्रधानमंत्री केयर फंड के सहयोग से निर्माण किया गया है लेकिन दिल्ली सरकार श्रेय लेने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है।

 

दिल्ली सरकार द्वारा उद्घाटन किया गए ऑक्सीजन प्लांटों को लेकर भाजपा के महासचिव कुलजीत सिंह चहल ने कहा कि भले ही यह ऑक्सीजन संयत्र प्रधानमंत्री केयर फंड की मदद से बनाए गए हैं लेकिन राज्य सरकार इसका क्रेडिट खुद लेने की कोशिश कर रही है। इसके साथ ही चहल ने कुछ प्लांटों का वीडियो भी अपने ट्विटर पर डाला। 

PM ने किया उद्घाटन
नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड के एम्स ऋषिकेश में एक कार्यक्रम में 35 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पीएम केयर्स कोष के तहत स्थापित 35 प्रेशर स्विंग एडजॉर्पशन (पीएसए) ऑक्सीजन संयंत्रों का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने कहा कि इसी के साथ, देश के सभी जिलों में अब पीएसए ऑक्सीजन संयंत्र काम कर रहे हैं। इसने कहा कि अब तक देश भर में कुल 1,224 पीएसए ऑक्सीजन संयंत्रों को पीएम केयर्स निधि के तहत वित्त पोषित किया गया है। साथ ही कहा कि इनमें से 1,100 से अधिक संयंत्र प्रति दिन 1,750 मीट्रिक टन से अधिक ऑक्सीजन का उत्पादन करने के लिए शुरू किया गया है। इस अवसर पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया भी मौजूद थे और उन्होंने देश भर में स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के प्रयासों की सराहना की।
प्रधानमंत्री के कार्यक्रम से पहले ही हेमंत सोरेन ने ‘पीएसए’ ऑक्सीजन संयंत्र का उद्घाटन किया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पूर्वनिर्धारित कार्यक्रम के अनुसार पूरे देश में एक साथ ‘पीएसए’ ऑक्सीजन संयंत्रों का उद्घाटन होना था, लेकिन इससे एक दिन पहले बुधवार को ही यहां मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सदर अस्पताल रांची में नवअधिष्ठापित 100 लीटर प्रति मिनट क्षमता वाले ‘पीएसए’ ऑक्सीजन संयंत्र का उद्घाटन कर दिया। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और उनके मंत्रिमंडल सहयोगी बन्ना गुप्ता ने बुधवार को यहां सदर अस्पताल रांची में नवअधिष्ठापित 100 लीटर प्रति मिनट क्षमता वाले ‘पीएसए ऑक्सीजन प्लांट’ का उद्घाटन किया, साथ ही ‘पीएम केयर्स फंड’ से पूरे राज्य में नवनिर्मित ‘प्रेशर स्विंग अब्जॉर्प्शन’ (पीएसए संयंत्रों) का उद्घाटन भी बुधवार को ही विभिन्न जिलों के उपायुक्तों ने स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के साथ ऑनलाइन एक कार्यक्रम में कर दिया। प्रधानमंत्री बृहस्पतिवार को देश के 35 राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों में कुल 35 ‘पीएसए’ संयंत्रों का एम्स उत्तराखंड से ऑनलाइन एक कार्यक्रम में उद्घाटन करेंगे, लेकिन यहां मुख्यमंत्री तथा स्वास्थ्य मंत्री ने एक दिन पहले इनका उद्घाटन करके एक बड़े विवाद को जन्म दे दिया है। मुख्य विपक्षी दल भाजपा के नेता आदित्य साहू ने कहा कि राज्य के सत्ता पक्ष के ये कारनामे उनकी नीति और नियत को फिर से उजागर करते हैं।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply