हिमाचल में खुलेंगे दो अगस्त से 10वीं से12वीं तक स्कूल

शिमला। हिमाचल सरकार ने दो अगस्त से स्कूलों को खोलने का फैसला लिया है कोरोना काल में प्रदेश के स्कूल कई महीनों से बंद थे व आनलाई ही पढाई हो रही थी लेकिन अब बंद पडे स्कूलों में अगले माह से रौनक लौटेगी सरकार ने 2 अगस्त से सभी मानक संचालन प्रक्रियाओं का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करते हुए 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए हुए स्कूल खोलने को अनुमति प्रदान की है। इसके साथ ही कोचिंग सेंटर इसी माह सोमवार से खुल जायेंगे।वहीं 5वीं और 8वीं कक्षाओं के विद्यार्थियों को पढ़ाई संबंधी किसी संशय के निवारण के लिए 2 अगस्त, 2021 से स्कूल आने की अनुमति प्रदान की गई है। कोचिंग, ट्यूशन और प्रशिक्षण संस्थानों को इस वर्ष 26 जुलाई से मानक संचालन प्रक्रियाओं का पालन करते हुए खोले जायेंगे।

इसे भी पढ़ें: हत्या के आरोप में भाजपा नेता व पूर्व मंत्री जंग बहादुर सिंह समेत पांच को उम्रकैद

सरकार की ओर से निर्धारित एसओपी के तहत प्रदेश के स्कूलों में 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों को एक-एक सीट छोड़कर बैठाया जाएगा। एक कक्षा में अधिक विद्यार्थियों के होने पर शारीरिक दूरी का पालन करते हुए विद्यार्थियों को अलग-अलग कमरों में बिठाकर कक्षाएं लगाई जाएंगी। फेस मास्क पहनना अनिवार्य रहेगा। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही शिक्षकों और विद्यार्थियों को स्कूल परिसरों में प्रवेश दिया जाएगा। मानसून की छुट्टियां समाप्त होते ही 26 जुलाई से ग्रीष्मकालीन स्कूलों में शिक्षकों को अनिवार्य तौर पर आना होगा। शीतकालीन स्कूलों में 22 जुलाई से 27 जुलाई तक बरसात की छुट्टियां रहेंगी। इन स्कूलों में 28 जुलाई से शिक्षक स्कूलों में आएंगे। प्रदेश में दो अगस्त से शुरू होने वाले स्कूलों में लागू की जाने वाली एसओपी को एक-दो दिन के भीतर शिक्षा विभाग जारी करेगा।

इसे भी पढ़ें: निजी हाथों में जा सकता है इंदौर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा , पिछले एक साल में हुआ है 23 करोड़ का घाटा

26 जुलाई से हिमाचल में खुलने वाले कोचिंग, ट्यूशन और प्रशिक्षण संस्थानों में भी पूरी क्षमता से विद्यार्थी आ सकेंगे। आने वाले दिनों में होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं को देखते हुए सरकार ने यह फैसला लिया है। दो अगस्त से पांचवीं और आठवीं कक्षा के विद्यार्थी परामर्श लेने के लिए स्कूलों में आ सकेंगे। हालांकि इनकी हाजिरी नहीं लगेगी। इन कक्षाओं की ऑनलाइन कक्षाएं पहले की तरह जारी रहेगी। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत इन दोनों कक्षाओं की इस शैक्षणिक सत्र से परीक्षाएं ली जानी हैं। आरटीई नियम के तहत अभी तक इन दोनों कक्षाओं के विद्यार्थी अगली कक्षाओं में प्रमोट किए जाते रहे हैं। अब इन्हें परीक्षा के आधार पर ही अगली कक्षा में भेजा जाएगा। ऐसे में सरकार ने इन कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोलने का फैसला लिया है। तीसरी कक्षा की भी इस वर्ष से परीक्षाएं होनी है। फिलहाल सरकार ने तीसरी कक्षा के विद्यार्थियों को अभी नहीं बुलाने का फैसला लिया है।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply