भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाने के संकल्प के लिए महंत परमहंस दास ने त्याग दिया गद्दी

अयोध्या। भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित किए जाने के लिए तहसील छावनी के महंत परमहंस दास देश के करोड़ों राम भक्तों को इन मुहिम से जोड़ने की तैयारी की है। और इस बीच महंत परमहंस दास ने एक और एलान कर दिया है। दरसल तपस्वी छावनी मंदिर में मिली जिम्मेदारी को त्याग करने का फैसला लिया है। जिसको लेकर एक पत्र गुरु महाराज को दिया है।]
 तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने भारत को हिन्दू राष्ट्र घोषित किये जाने को लेकर पूर्व में जल समाधि देने का ऐलान किया था प्रशासनिक सख्तियों के बीच परमहंस दास को हाउस अरेस्ट कर दिया गया था। जिसके कारण उन्हें अपना फैसला बदल दिया और अब 2023 में दिल्ली के रामलीला मैदान में आमरण अनशन करेंगे। जिसके पहले देश भर के हिंदुओं के बीच हिन्दू राष्ट्र जन जागरण यात्रा लेकर भारत भ्रमण पर निकलेंगे।
 महंत परमहंस दास ने कहा कि 7 नवंबर 2023 में दिल्ली के रामलीला मैदान से भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाने के लिए करोड़ों अनुयायियों के साथ आमरण अनशन करूंगा। उसके लिए हमने तैयारियां शुरू कर दी है। और इस तैयारियों में तपस्वी छावनी मंदिर स्थान का भी देखभाल करना जरूरी है। इसलिए हमने आज मिली जिम्मेदारी के पद से इस्तीफा दे दिया है। और अब तपस्वी छावनी मंदिर से संबंधित जो भी जगह, जमीन, स्थान व संपत्ति में हमारा किसी भी प्रकार से हस्तक्षेप नहीं रहेगा। हमने अपनी प्रसन्नता से यह फैसला लिया है। क्योंकि हमें करोड़ों हिंदू भाई बहनों की रक्षा के लिए जितने हिंदूवादी संगठन हैं। उनसे वादा किया है कि दिन रात परिश्रम करके भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कराने में सफल प्रयास करेंगे उसी के तहत हमने या निर्णय लिया है। वही बताया कि हिंदू राष्ट्र जन जागरण यात्रा लेकर बहुत ही जल्द यहां चले निकलने वाले हैं जो कि भारत के कोने कोने हर गांव हर शहर तक पहुंचकर जितने भी सनातन हिंदू भाई बहन हैं उन्हें जगायेंगे एकजुट करेंगे। जितने हिंदूवादी संगठन ने उन्हें एकजुट करेंगे और भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित बनाने में निरंतर प्रयास करेंगे यह हमारी अगली रणनीति है और जल्दी एक माह के अंदर इस यात्रा का शुभारंभ करेंगे। जिसके लिए रोडमैप भी तैयार कर लिया गया है।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply