Padma Awards: इन महिलाओं को मिला पद्म पुरस्कार, जानिए इनके बारें में

Padma Awards: इन महिलाओं को मिला पद्म पुरस्कार, जानिए इनके बारें में
भारत सरकार द्वारा देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म पुरस्कार के विजेताओं को सम्मानित करने के लिए राष्ट्रपति भवन में समारोह आयोजित किए गए। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा 150 विजेताओं को सम्मानित किया गया। कोरोना महामारी के कारण पिछले वर्ष यह समारोह आयोजित नहीं किया जा सका था जिसकी वजह से पिछले वर्ष के विजेताओं को सम्मानित करने के लिए इस वर्ष इसका आयोजन किया गया। पद्म पुरस्कार से सम्मानित किए गए 150 विजेताओं में 62 महिलाएं और एक ट्रांसजेंडर भी शामिल हैं। इस लेख में पढ़िए इन सभी महिलाओं के बारे में-
 
 
खेल के क्षेत्र में अपने योगदान के लिए मैरी कॉम को पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया।
 
 
खेल के क्षेत्र में अपने योगदान के लिए पी.वी. सिंधु को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।
 
 
सामाजिक कार्य के क्षेत्र में योगदान के लिए कृष्णम्मल जगन्नाथन को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।
 
 
चिकित्सा के क्षेत्र में योगदान के लिए डॉ सेरिंग लांडोल को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।
 
 
सार्वजनिक मामलों के क्षेत्र में योगदान के लिए सुमित्रा महाजन को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए कृष्णन नायर शांताकुमारी चित्रा को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।
 
 
साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में योगदान के लिए डॉ दमयंती बेशरा को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
खेल के क्षेत्र में योगदान के लिए ओइनम बेमबेम देवी को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में योगदान के लिए डॉ मीनाक्षी जैन को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
साहित्य और शिक्षा (पत्रकारिता) के क्षेत्र में योगदान के लिए विदुषी के.एस. जयलक्ष्मी को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए सरिता जोशी को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कृषि के क्षेत्र में योगदान के लिए कुमारी साबरमती को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए कंगना रनौत को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
खेल के क्षेत्र में योगदान के लिए रानी रामपाल को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कृषि के क्षेत्र में योगदान के लिए ट्रिनिटी साइओ को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए कली शाबी मेहबूब को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए इंदिरा पी.पी. बोरा को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
सामाजिक कार्य के क्षेत्र में योगदान के लिए उषा चौमार को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
सामाजिक कार्य के क्षेत्र में योगदान के लिए तुलसी गौड़ा को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
चिकित्सा के क्षेत्र में योगदान के लिए डॉ लीला जोशी को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए एकता कपूर को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कृषि के क्षेत्र में योगदान के लिए रहीबाई सोमा पोपरे को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
चिकित्सा के क्षेत्र में योगदान के लिए डॉ शांति रॉय को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
खेल के क्षेत्र में योगदान के लिए पी. अनीता को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
सामाजिक कार्य के क्षेत्र में योगदान के लिए लखीमी बरुआ को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
व्यापार और उद्योग के क्षेत्र में योगदान के लिए रजनी बेक्टर को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए दुलारी देवी को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
खेल के क्षेत्र में योगदान के लिए डॉ अंशु जम्सेनपा को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए पूर्णमासी जानी को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
सामाजिक कार्य के क्षेत्र में योगदान के लिए प्रकाश कौर को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए लाजवंती को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
व्यापार और उद्योग के क्षेत्र में योगदान के लिए जसवंतीबेन जमनादास पोपट को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
सामाजिक कार्य के क्षेत्र में योगदान के लिए डॉ बीरुबाला राभा को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए बॉम्बे जयश्री रामनाथ को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए हंजाबम ओंगबी राधे देवी को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
खेल के क्षेत्र में योगदान के लिए सुधा सिंह को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
सामाजिक कार्य के क्षेत्र में योगदान के लिए गुरु माँ कमली सोरेन को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए भूरी बाई को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
सामाजिक कार्य के क्षेत्र में योगदान के लिए संगखुमी बुआलछुआक को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
सार्वजनिक मामलों के क्षेत्र में योगदान के लिए बिजॉय चक्रवर्ती को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
खेल के क्षेत्र में योगदान के लिए मौमा दास को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
सामाजिक कार्य के क्षेत्र में योगदान के लिए शांति देवी को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए मंजम्मा जोगती को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
सामाजिक कार्य के क्षेत्र में योगदान के लिए डॉ नीरू कुमार को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
सामाजिक कार्य के क्षेत्र में योगदान के लिए छुटनी महतो को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कृषि के क्षेत्र में योगदान के लिए पप्पम्माल को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
कला के क्षेत्र में योगदान के लिए दंडामुडी सुमति राम मोहन राव को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
सामाजिक कार्य के क्षेत्र में योगदान के लिए सिन्धुताई सपकाल को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
 
 
साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में योगदान के लिए उषा यादव को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।

Source Link