जिम कॉर्बेट टाइगर रिजर्व का नाम अब होगा रामगंगा नेशनल पार्क, केंद्रीय मंत्री ने दिए निर्देश

देहरादून। उत्तराखंड में बाघों के संरक्षण के लिए बने विश्वप्रसिद्ध अभयारण्य जिम कार्बेट राष्ट्रीय पार्क का नाम बदलकर भविष्य में रामगंगा राष्ट्रीय पार्क किया जा सकता है। करीब 521 किलोमीटर क्षेत्रफल में फैले भारत के पहले राष्ट्रीय पार्क का नाम बदलने का संकेत केंद्रीय वन एवं पर्यावरण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने दिया। उन्होंने हाल ही में अपने जिम कॉर्बेट दौरे पर एक संग्रहालय की अतिथि पुस्तिका में इसका उल्लेख किया। उन्होंने लिखा कि जिम कार्बेट राष्ट्रीय पार्क का नाम बदलकर रामगंगा राष्ट्रीय पार्क कर देना चाहिए। जिम कार्बेट निदेशक राहुल ने इस बात की पुष्टि तो की लेकिन इस पर आगे कोई टिप्पणी करने से मना कर दिया। हालांकि, नाम बदलने को लेकर वन्यजीव प्रेमियों ने नाराजगी जाहिर की है। वन्यजीव प्रेमी प्रकाश किमोठी ने कहा, ‘‘हमें नाम बदलने की जगह अपनी धरोहरों के संरक्षण पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।’’

जिम कॉर्बेट का नाम अगर बदला जाता है तो ऐसा पहली बार नहीं होगा। इससे पहले 1936 में स्थापना के समय पार्क का नाम हेली राष्ट्रीय पार्क रखा गया था जिसे दो दशक बाद शिकारी से संर​क्षणवादी बने जिम कॉर्बेट के नाम पर कर दिया गया। हालांकि, बीच में कुछ समय के लिए इसका नाम रामगंगा राष्ट्रीय पार्क भी रहा क्योंकि इसके बीच से गंगा की सहायक नदी रामगंगा गुजरती है। पार्क का ज्यादातर हिस्सा नैनीताल जिले में पड़ता है और यह बाघों के स्वस्थ घनत्व के लिए दुनिया भर में विख्यात है।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply