National

बाज नहीं आया ड्रैगन तो मिलेगा मुंहतोड़ जवाब, चीन की दगाबाजी पर सामने आया MEA का बयान

नयी दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत और चीन के बीच गतिरोध बना हुआ है। इसके बावजूद चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है और लगातार लद्दाख में गतिविधियां बढ़ा रहा है। इसी बीच भारत ने स्पष्ट कर दिया है कि अगर पैंगोंग त्सो लेक में चीन ने कोई चालाकी की तो हम मुंहतोड़ जवाब देंगे। हाल ही में एक खबर सामने आई कि चीन एलएसी के बहुत निकट एक पुल का निर्माण कर रहा है जो झील के उत्तरी किनारे को दक्षिणी किनारे से जोड़ेगा। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीनी सेना गोंग त्सो लेक के अपने वाले हिस्से में एक पुल का निर्माण कर रही है। माना जा रहा है कि इस पुल के बन जाने से चीनी सेना तेजी के साथ भारतीय सेना के करीब पहुंच सकेगी। विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने गलवान पर चीन की ओर से झंडा फहराने पर कड़ी आपत्ति जताई। इसके बाद उन्होंने पैंगोंग का जिक्र करते हुए साफ कर दिया कि अगर चीन कुछ करता है तो उसे मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।

राहुल ने PM मोदी पर साधा निशाना

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एलएसी के निकट पैंगोंग त्सो लेक पर चीन द्वारा पुल का निर्माण किए जाने संबधी खबरों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि उनकी खामोशी की गूंज बहुत तेज है। उन्होंने ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री की खामोशी की गूंज बहुत तेज है। हमारी जमीन, हमारे लोग और हमारी सीमाएं इससे कहीं बेहतर की हकदार हैं।

PM’s silence is deafening.

Our land, our people, our borders deserve better. pic.twitter.com/YKcNmliiVN

— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) January 4, 2022

गलवान पर लहराया तिरंगा

हाल ही में चीन ने प्रोपोगेंडा के तहत अपना झंडा फहराते हुए एक वीडियो जारी किया था। जिसका भारत ने मुंडतोड़ जवाब दिया। सुरक्षा प्रतिष्ठान के सूत्रों ने नए साल के जश्न के हिस्से के रूप में गलवान घाटी में एक बड़ा तिरंगा पकड़े भारतीय सेना के जवानों की तस्वीरें जारी कीं। तस्वीरों को केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने भी ट्विटर पर साझा करते हुए लिखा, “नव वर्ष 2022 के अवसर पर गलवान घाटी में भारतीय सेना के बहादुर जवान।”

Source Link