National

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने किया नागरिक अस्पताल, फतेहाबाद का औचक निरीक्षण

चंडीगढ़ । स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज आज कोविड के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्वयं फील्ड में उतरे हैं और इसी कड़ी में उन्होंने फतेहाबाद में लगाए गए ऑक्सीजन प्लांट, टीकाकरण साइट, सैंपलिंग स्पॉट और नागरिक अस्पताल में चिकित्सा व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए औचक निरीक्षण किया और उपस्थित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए ताकि लोगों को कोविड संक्रमण से बचाने के साथ-साथ इलाज की व्यवस्थाएं दुरूस्त की जा सकें।
विज ने नागरिक अस्पताल में स्थापित ऑक्सीजन प्लांट के निरीक्षण के दौरान प्लांट के संचालन की गतिविधियों का जायजा लिया। ऑक्सीजन प्लांट में 94 प्रतिशत लेवल सुचारू तरीके से सप्लाई हो रही थी। इसके उपरांत स्वास्थ्य मंत्री ने कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण किया और वहां पर वेंटिलेकर को स्वयं चलाकर जांचा। कोविड केयर सेंटर और ऑक्सीजन प्लांट की कार्य प्रणाली पर स्वास्थ्य मंत्री ने संतुष्टि भी जाहिर की।
 

इसे भी पढ़ें: हरियाणा को एक सुरक्षित और अपराध मुक्त राज्य बनाने में नागरिकों के समर्थन का अनुरोध

 
कोविड की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर पूरे पुख्ता प्रबंध रखें अधिकारी- विज
उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोविड की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर पूरे पुख्ता प्रबंध रखें। उन्होंने जिला प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वे कोविड के उचित व्यवहार की पालना करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को भी निर्देश देते हुए कहा कि जारी आदेशों के तहत नाइट कफ्र्यू की पालना सुनिश्चित करवाएं और लोगों को मास्क लगाने, कोविड के उचित व्यवहार की पालना करने के लिए प्रेरित करें तथा भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर अनावश्यक रूप से एकत्रित न होने दें।
 

इसे भी पढ़ें: दुबई की तर्ज पर हरियाणा में बनेगा बिजनेस-टॉवर

 
स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने उपस्थित अधिकारियों को टीकाकरण को बढ़ाने के आदेश दिए और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे इसके लिए प्लानिंग कर लें। राज्य में 15 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए टीकाकरण अभियान आगामी 3 जनवरी, 2022 से शुरू किया जा रहा है और इसके लिए सभी पुख्ता प्रबंध स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी रखें। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि बच्चों के टीकाकरण के लिए अलग से साइट और सत्र आयोजित करें और यदि व्यस्क व्यक्तियों के लिए समांतर साइट है तो उनके लिए अलग से लाइन बनाए और उनका स्टाफ भी अलग रखें।
 

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेशवासियों और वीर जवानों को दी नववर्ष 2022 की बधाई व शुभकामनाएं

 
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश में 15 से 18 साल तक के 15 लाख 40 हजार बच्चे हैं, उनका पंजीकरण शनिवार से शुरू हो जाएगा और सोमवार से वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगी। वैक्सीन सेंटरों में उनके लिए अलग से लाइन लगेगी। इसके अलावा, वैक्सीन लगाने वाली टीम भी अलग होगी। उन्होंने कहा कि बच्चों को को-वैक्सीन लगाई जाएगी।
 
विज ने कहा कि पिछली लहर में ऑक्सीजन की मांग को देखते हुए  हमने उस समय से अपने अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाए हैं। अभी 84 प्लांट चल रहे हैं। वहीं, 50 बेड से ऊपर के निजी अस्पतालों को भी प्लांट लगाने के लिए कहा गया है जिसके तहत 54 निजी हस्पतालों में प्लांट लग भी चुके हैं। इन प्लांटों का निरीक्षण किया जा रहा है। वेंटिलेंटर्स भी चल रहे हैं या नहीं, यह भी जांचा जा रहा है। उन्होंने कहा प्रदेश में 780 नए चिकित्सकों की भर्ती की जाएगी।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि एक जनवरी से सार्वजनिक स्थानों व सरकारी कार्यालयों में वैक्सीन की दोनों डोज लगाकर आने वालों को ही प्रवेश दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी उपायुक्तों से कहा गया है कि सभी विभागों के कर्मचारियों की टीमें बनाकर रेंडमल चेकिंग करवाएं।
गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पुलिस थानों में सुनवाई नहीं करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों पर कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि सभी एसपी को निर्देश दिए गए हैं कि वो हर रोज एक घंटे के लिए दरबार लगाए ताकि जनता की शिकायतों को समय पर निपटाया जा सके।

Source Link