युवा पर्वतारोही द्वारा जागरूकता अभियान चलाकर निशुल्क सेनिटरी नैपकिन पैड वितरण किया गया

गोरखपुर। गोरखपुर में प्रोजेक्ट बाला एवं जलसा फाउंडेशन ट्रस्ट गोरखपुर के माध्यम से मासिक धर्म के बारे में जागरूकता अभियान चलाया गया। गोरखपुर के अंतरराष्ट्रीय युवा पर्वतरोही नीतीश सिंह ने मासिक धर्म की जागरूकता को लेकर हाल ही में उन्होंने 15 अगस्त को माउंट एलब्रुस की चढ़ाई की थी, जिसकी उचाई 5642 मीटर है। उन्होंने जितना मीटर क्लाइम्ब किया था उतनी लड़कियों को दिल्ली की संस्था प्रोजेक्ट बाला के साथ मिल कर सेनिटरी नैपकिन पैड वितरण करने का लक्ष्य रखा था।
प्रोजेक्ट बाला की खुशाली ने कार्यक्रम के बारे में लड़कियों को बताया कि जो लड़कियां सेनिटरी पैड इस्तेमाल करती हैं उसमें कुछ मात्रा प्लस्टिक की भी होती है जिसके कारण  लड़कियों,महिलाओं को कुछ दिक्कतें आती हैं। इस लिए हमारी संस्था प्रोजेक्ट बाला प्लास्टिक फ्री पैड के इस्तेमाल के लिए कार्य कर रही हैं। उन्होंने कहा कि यह सेनिटरी नैपकिन कपड़े का है जिसको हम धूल कर एक साल तक इस्तेमाल कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि जबसे पीरियड स्टार्ट होता है और जिस उम्र में समाप्त होता है उस दौरान 2 ट्रक पैड का इस्तेमाल लगभग हो जाता है जो कि कई साल तक सड़ता गलता नहीं है।
उन्होंने बताया कि यह सेनिटरी नैपकिन बेक्टीरियल फ्री है जिसका इस्तेमाल कर लड़कियां सुरक्षित एवं स्वस्थ रहेंगी।उसी के उपलक्ष्य में सरस्वती शिशु मंदिर बालिका विद्यालय सूर्यकुंड में 750 लड़कियों को सेनिटरी नेपकिन पैड वितरण किया गया तथा गोरखपुर के भगवती इंटर कॉलेज बालिका विद्यालय में 450 लड़कियों को विरतण किया गया एवं इमामबाड़ा बालिका विद्यालय में 200 लड़कियों को वितरित किया गया। गंगोत्री देवी गर्ल्स इंटर कॉलेज गोरखपुर में 1100 लड़कियों को निःशुल्क सेनिटरी नैपकिन का वितरण किया गया। 
उक्त  कार्यक्रम में दिव्या, शालिनी, सरस्वती शिशु मंदिर वरिष्ठ बालिका विद्यालय की प्रधानाचार्य सरोज तिवारी, गंगोत्री देवी बालिका विद्यालय की प्रधानाचार्य डॉ पूनम शुक्ला, भगवती बालिका विद्यालय की प्रधानाचार्य पुनीता, गंगोत्री देवी नर्सिंग कॉलेज की प्रधानाचार्य सुधा शाह एवं इमामबाड़ा बालिका विद्यालय की प्रधानाचार्य नाहिद जी सहित स्कूल के प्रशासन का पूरा सहयोग मिला।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply