दिग्विजय ने RSS की तुलना तालिबान से की, VHP के आलोक कुमार का पलटवार, कहा- वह सावन के अंधे हैं

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद वहां कामकाजी महिलाओं को लेकर लगातार चर्चा है। तालिबान ने वहां महिलाओं को कामकाज करने पर रोक लगा दिया है। इन सबके बीच इसे लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मोहन भागवत और आरएसएस पर निशाना साधा है। आपको बता दें कि मोहन भागवत ने हाल में ही कहा था कि पुरुष कमाने वाले हैं जबकि महिलाएं गृहिणी हैं।

इसको लेकर दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया “तालीबान- महिलाएँ मंत्री बनाए जाने लायक़ नहीं हैं। मोहन भागवत- महिलाओं को घर पर ही रह कर गृहस्थी सम्भालना चाहिए। क्या विचारों में समानता है?” दिग्विजय ने अपने एक और ट्वीट में कहा कि मोदीशाह सरकार को अब स्पष्ट करना होगा कि जिस तालीबान सरकार में घोषित आतंकवादी संगठन के सदस्य व इनाम घोषित आतंकवादी मंत्री हैं, उसे क्या भारत मान्यता देगा? दिग्विजय के इस बयान पर विश्व हिंदू परिषद के आलोक कुमार ने पलटवार किया है।

आलोक कुमार ने दिग्विजय सिंह को सावन का अंधा बताते हुए कहा कि ट्वीट करने से पहले उन्होंने इस बात को नहीं देखा कि वर्तमान सरकार के केंद्रीय मंत्रिमंडल में महिलाओं को बड़ी संख्या में मंत्री बनाया है। भारत की परंपरा में महिलाओं की सहभागिता को भी स्वीकृति है और उनके नेतृत्व को भी स्वीकृति है। ANI के मुताबिक आलोक कुमार ने कहा कि फिजियोलॉजी के कारण महिलाओं की कुछ बड़ी ज़िम्मेदारियां परिवार और बच्चों के प्रति होती हैं, उसका ज़िक्र सर संघचालक (मोहन भागवत) ने एक बार किया था परन्तु उसमें से ये ध्वनि कहीं भी नहीं निकलती कि महिलाओं को कामकाज़ में समाज में अपने सहभाग के लिए आगे नहीं आना चाहिए।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply