National

CM शिवराज ने कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर ली आपात बैठक, इंदौर कलेक्टर को दिए कई निर्देश

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना के बढ़ते केस और बच्चों के वैक्सीनेशन पर कलेक्टर-कमिश्नर की बैठक ले रहे हैं। उन्होंने बैठक में कहा कि इंदौर को सबसे ज्यादा सतर्क रहना है। इंदौर में लोगों की आवाजाही  ज्यादा है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर कलेक्टर को कोरोना नियंत्रण को लेकर कहा कि टेस्टिंग कराने समेत सभी व्यवस्थायें दुरुस्त करें। हमारा प्रयास है कि कोरोना के मरीजों को कोविड केयर सेंटर में रखें। उन्होंने कहा कि फीवर क्लीनिक एक्टिव कर दें जिससे टेस्टिंग लोग आसानी से करा पाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें पूरी सर्तकता रखनी है, हमें अपनी तरफ से कोई कमी नहीं रहने देना है। क्राइसिस मैनेजमेंट कमिटियों की बैठकें जिलों, ब्लॉकों व पंचायतों की करें। सारे कलेक्टर इसे गंभीरता से लें। 15-18 वर्ष के बच्चों को वैक्सीन लगाने का काम करना है। हम सबसे पहले अपने बच्चों को सुरक्षित करें। 3 तारीख से इसे बड़े स्तर पर शुरू करना हैं।

उन्होंने कहा कि सभी कलेक्टर्स को जो टारगेट दे रहे हैं उसे पूरा करें, मुझे सबकी रिपोर्ट दें कि क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठकें सभी ने कर ली हैं। नीचे तक के क्राइसिस ग्रुप से हम संपर्क में रहें ।

सीएम शिवराज ने कहा कि कोविड केयर सेंटर का उपयोग ज्यादा से ज्यादा करें, हर जिले में एक कोविड केयर सेंटर होना चाहिए, बाकी ब्लॉक, पंचायत में भी जरूरत होगी तो शुरू करेंगे। सभी मंत्री ऑक्सीजन प्लांट चेक कर लें। दवाइयों की आपूर्ति सुनिश्चित करें। हम मैपिंग कर लें कि हमारे पास और प्राइवेट हॉस्पिटल के पास कितने बिस्तर हैं। और पूरी जानकारी इकट्ठा कर उसके अनुसार काम करे।

Source Link