National

इस वजह से क्रैश हुआ था CDS रावत का हेलीकॉप्टर, कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी से खुलासा

सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 11 सशस्त्र बलों के जवानों की जान लेने वाले हेलिकॉप्टर दुर्घटना में वायु सेना की जांच लगभग पूरी हो चुकी है और जल्द ही प्रस्तुत की जाएगी। जांच या उसकी रिपोर्ट पर न तो वायु सेना और न ही सरकार ने अभी तक कोई बयान दिया है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि खराब मौसम के कारण कम दृश्यता की वजह से हेलीकॉप्टर हादसा हुआ है। इस पर भी अब तक कोई बयान या स्पष्टीकरण नहीं आया है कि क्या दुर्घटना का मूल कारण पायलट-त्रुटि थी या क्या पहाड़ी क्षेत्रों में बादलों के भीतर संचालन के नियमों की अवहेलना की गई थी।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार सूत्रों ने कहा कि देश के शीर्ष हेलीकॉप्टर पायलट एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह के नेतृत्व में कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का मानना है कि MI-17v5 का पायलट 8 दिसंबर को तमिलनाडु की नीलगिरि पहाड़ियों में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, हो सकता है कि खराब मौसम से विचलित हो गया। इस तरह के हादसे तब होते हैं जब पायलट का ध्यान भटक जाए या फिर वो स्थिति का ठीक अनुमान न लगा पाए। इसके अलावा यह भी हो सकता है कि पायलट अनजाने में किसी सतह से टकरा गया हो। ऐसी स्थिति को कंट्रोल्ड फ्लाइट इनटू टेरैन (CIFT) कहा जाता है।

Source Link