एयर इंडिया की बोली के बारे में बात नहीं कर सकता: स्पाइसजेट सीएमडी

बोस्टन (अमेरिका)। स्पाइसजेट के सीईओ और प्रबंध निदेशक (सीएमडी) अजय सिंह ने कहा है कि एक स्वस्थ एयर इंडिया पूरे देश के लिए अच्छी है और सरकार द्वारा इसके निजीकरण के बाद इसका ब्रांड धीरे-धीरे अपना पुराना गौरव वापस पा लेगा।
पीटीआई-द्वारा यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने अपनी व्यक्तिगत क्षमता में एयर इंडिया के लिए बोली लगायी है, सिंह ने कहा, चूंकि आप जानते हैं कि हमारा सरकार के साथ गोपनीयता संबंधी समझौता है। इसलिए, मैं एयर इंडिया की बोली के बारे में बात नहीं कर सकता।

सूत्रों के अनुसार, कर्ज में डूबी एयर इंडिया के लिए सिंह और टाटा समूह द्वारा लगायी गयीं वित्तीय बोलियां पिछले महीने खोली गयी थीं और विनिवेश संबंधी सचिवों के मुख्य समूह ने 29 सितंबर को उनका मूल्याकंन किया था। कैबिनेट सचिव राजीव गौबा इस समूह के प्रमुख हैं। गत एक अक्टूबर को, निजीकरण के लिए जिम्मेदार सरकारी विभाग – निवेश और सार्वजनिक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के सचिव, तुहिन कांत पांडे ने ट्विटर पर लिखा था कि केंद्र ने अभी तक एयर इंडिया के लिए वित्तीय बोलियों को मंजूरी नहीं दी है और जब भी ऐसा होगा, मीडिया को इसकी जानकारी दे दी जाएगी।

जब सिंह से पूछा गया कि उनके हिसाब से एक निजी कंपनी द्वारा एयर इंडिया के अधिग्रहण के बाद भारतीय विमानन बाजार की स्थिति क्या होगी, उन्होंने जवाब दिया, यह कल्पना पर आधारित है लेकिन निश्चित रूप से एक स्वस्थ एयर इंडिया पूरे देश के लिए अच्छी है और हम मानते हैं कि एयर इंडिया अधिग्रहण या निजीकरण के साथ एक स्वस्थ एयरलाइन होगी और धीरे-धीरे एयर इंडिया का गौरवशाली ब्रांड वापस लौट आएगा। उन्होंने गत सोमवार को कहा, भारत के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि हमारे पास एक अग्रणी विमानन सेवा है जिसे दुनिया भर में जाना जाता है। वह वैश्विक एयरलाइंस निकाय, इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (आईएटीए) की 77वीं वार्षिक आम बैठक से इतर बोल रहे थे।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •