भारत के जवाबी एक्शन के सामने झुका ब्रिटेन, अब यूके जाने पर भारतीयों को नहीं रहना होगा क्वारेंटीन

कोरोना महामारी के कारण यात्रा पाबंदियों और क्वारेंटीन के नियम की वजह से भारत और ब्रिटेन के रिश्तो में थोड़ी तल्खी देखी जा रही थी। इन सबके बीच भारत के दबाव में आखिरकार ब्रिटेन को झुकना पड़ा। अब कोरोना वैक्सीन का दोनों टीका लगवा चुके भारतीयों को ब्रिटेन की यात्रा पर जाने के बाद उन्हें क्वारेंटीन नहीं रखा जाएगा। भारत में ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस ने इस बात की घोषणा की।

 

एलिस ने सोशल मीडिया पर जारी एक बयान में कहा कि कोविशील्ड या यूके द्वारा अनुमोदित किसी अन्य वैक्सीन का दोनों डोज लेने वालों को क्वारेंटीन में नही रखा जाएगा। यह नियम 11 अक्टूबर से लागू होगा। उन्होंने पिछले महीनों में घनिष्ठ सहयोग के लिए भारत सरकार का भी धन्यवाद किया। आपको बता दें कि ब्रिटेन का यह कदम ऐसे समय में आया है जब भारत ने उसको उसी की भाषा में जवाब दिया था। 

आपको बता दें कि पिछले दिनों ही भारत ने ब्रिटिश नागरिकों के लिए अपने यहां आने पर वैसा ही नियम लगाने का फैसला किया था जैसा कि ब्रिटेन ने भारतीयों के लिए लगाया था। दरअसल, भारत ने कहा था कि चार अक्टूबर से ब्रिटेन से भारत आने वाले सभी ब्रिटिश नागरिकों को आगमन पर आरटी-पीसीआर जांच करानी होगी, चाहे उन्होंने कोविड-19 रोधी टीके की खुराक ले रखी हो या नहीं। इससे साथ ही चार अक्टूबर से ब्रिटेन से भारत आने वाले सभी ब्रिटिश नागरिकों को टीकाकरण कराने के बावजूद, अपने आगमन के आठवें दिन आरटी-पीसीआर जांच करानी होगी। चार अक्टूबर से भारत आने वाले सभी ब्रिटिश नागरिकों को आगमन के बाद 10 दिनों के लिए घर पर या गंतव्य स्थल पर 10 दिन तक जरूरी पृथक-वास में रहना होगा।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •