National

कोरोना संक्रमितों की बढ़ोतरी के बाद बंगाल में ‘मिनी लॉकडाउन’, स्कूल-कॉलेज बंद, 50 फीसदी क्षमता से खुलेंगे ऑफिस

देश में कोरोना की रफ्तार तेज हो रही है। ओमिक्रॉन वैरिएंट के खतरे के बीच तीसरी लहर के संकेत मिलने शुरू हो गए हैं। इन सब के बीच पश्चिम बंगाल ने नई पाबंदियों का ऐलान किया है। पश्चिम बंगाल सरकार ने सभी शैक्षणिक संस्थाओं को बंद करने की घोषणा की, कार्यालयों को 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खोलने की अनुमति, पूर्वाह्न 10 बजे से शाम पांच बजे तक केवल आवश्यक सेवाओं की अनुमति। लोकल ट्रेन सोमवार से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ शाम सात बजे तक चलेंगी; पार्लर, जिम बंद रहेंगे।

पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव एचके द्विवेदी ने जानकारी देते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल ने सभी स्कूलों और कॉलेजों के साथ-साथ सिनेमा हॉल, जिम और स्विमिंग पूल और ब्यूटी सैलून को बंद करने सहित नए कोविड प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया है। सरकारी और निजी कार्यालयों में उपस्थिति 50 प्रतिशत पर सीमित रहेगी। ब्रिटेन से सीधी उड़ानें, जिसने पिछले कुछ हफ्तों में कोविड-19 मामलों की एक चौंका देने वाली बढ़ोतरी हुई है, जिसमें अधिक संक्रामक ओमिक्रोन स्ट्रेन भी शामिल है, को भी रोक दिया गया है।

पश्चिम बंगाल में पिछले कुछ दिनों से कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और शनिवार को संक्रमण के 4,512 मामले सामने आए, जो पिछले दिन की तुलना में 1,061 मामले अधिक हैं। वहीं, कोलकाता में 2,398 नये मामले सामने आए हैं। राज्य में शुक्रवार को 3,451 मामले सामने आए थे, जिनमें कोलकाता से 1,954 मामले थे। महामारी से मरने वाले और नौ लोगों में कोलकाता एवं उत्तर 24 परगना से दो-दो लोग हैं। राज्य में संक्रमण की दर पिछले दिन के 8.46 प्रतिशत से बढ़ कर 12.02 प्रतिशत हो गई है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग की एक बुलेटिन के मुताबिक कोलकाता के बाद उत्तर 24 परगना से सर्वाधिक मामले सामने आए हैं और यह संख्या 688 है, जो पिछले दिन के 496 से अधिक है। 

Source Link