January 18, 2022

DNSP NEWS

Taking Action, Getting Result

अयोध्या में अमित शाह की हुंकार, बुआ-बबुआ ने यूपी को किया पीछे, योगीराज में गुंडे कर रहे हैं पलायन

गृह मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह आने वाले चुनाव के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के अयोध्या में आज एक विशाल जनसभा को संबोधित किया। इस अवसर पर अमित शाह ने कहा कि इस भूमि ने वर्षों तक प्रभु श्रीरामलला के जन्मस्थान के लिए संघर्ष किया है। यहां अनेक बार विनाश भी हुआ, निर्माण भी हुआ। मगर हर बार विनाश पर निर्माण ने विजय प्राप्त की। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि  श्रीराम के भव्य मंदिर को बनने से रोकने के लिए कांग्रेस, सपा और बसपा ने अपने शासन में ढेर सारे प्रयत्न किए। आप सभी को याद होगा, इन लोगों ने कारसेवकों पर गोली चलाई थी। राम सेवकों पर डंडे बरसाए थें, रामसेवकों को मारकर सरयूं नदी में बहा दिया गया था।

योगी जी की सरकार आने के बाद पलायन करवाने वाले, खुद भाग रहे हैं।

पहले माफियाओं से पुलिस डरती थी, जबकि आज माफिया पुलिस के सामने सरेंडर कर रहा है।

– श्री @AmitShah pic.twitter.com/zZuq90sKDw

— BJP (@BJP4India) December 31, 2021

शाह ने कहा कि जब देश के जनता ने पूर्ण बहुमत के साथ भाजपा की सरकार बनाई, नरेन्द्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बनें और आज मैं देख कर आया हूं कि रामलला का मंदिर उसी स्थान पर आज बन रहा है। अखिलेश यादव और मायावती पर हमला करते हुए गृह मंत्री ने कहा कि ये बुआ-बबुआ के शासन में हमारे आस्था के प्रतीकों का सम्मान नहीं होता था। आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी, यूपी के मुख्यमंत्री योगी जी हर एक आस्था के स्थान को गौरव प्रदान करने का काम कर रहे हैं। भाजपा की सरकार में अयोध्या को अपना प्राचीन गौरव वापस दिलाने का काम किया है। अयोध्या में प्रभु श्रीराम के नाम से जोड़कर श्रीराम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बन रहा है जो दुनिया के सभी स्थानों से राम भक्तों को अयोध्या लाने का काम करेगा।

  पार्टी के वरिष्ठ नेता ने कहा कि ये बुआ बबुआ और कांग्रेस पार्टी कभी यूपी का विकास नहीं कर सकती। सपा के शासन में यहां पूरे प्रदेश में गुंडों और माफिया का बोलबाला था। हमारे लोगों को पलायन पर मजबूर कर दिया जाता था। उन्होंने कहा कि योगी जी की सरकार आने के बाद पलायन करवाने वाले, खुद भाग रहे हैं। पहले माफियाओं से पुलिस डरती थी, जबकि आज माफिया पुलिस के सामने सरेंडर कर रहा है। 

Source Link