ALERT ! अपने फोन से इन ऐप्स को करें डिलीट, 136 Apps को गूगल प्ले स्टोर ने कर दिया बैन

नयी दिल्ली। कोई आपके फोन के ज़रिये आपका पासे चुरा ले ये सुनकर आपको डर लगना लाज़मी है। ऐसे में, सुरक्षा के मद्देनज़र आए दिन हैकर्स से सावधान रहने की चेतावनी हमें मिलती रहती है। हैकर्स को रोकना आपके ऊपर है। आप खुद सचेत रहेंगे तो आपका पैसा कोई चोरी नहीं कर पाएगा। 
 
स्मार्ट यूजर्स को हुआ लाखों डॉलर का नुकसान
आपको जानकर हैरानी होगी की Zimperium के सुरक्षा विशेषज्ञों ने एक और मैलवेयर ऐप्स के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया है कि दुनिया भर के Android स्मार्टफोन यूजर्स को लाखों डॉलर का नुकसान हुआ है। सबसे बड़ी बात ये है कि ये ऐप्स शायद आपके फोन में हो सकते हैं और आपके पैसों को कब गायब कर दें आपको इसका पता भी नहीं चलेगा। जी हां, यही वजह है कि Google Play Store ने इस मैलवेयर से जुड़े कुछ ऐप्स को बैन कर दिया है। 
जल्दी करें इन ऐप्स को डिलीट
इन खतरनाक Apps के बारें में आपको बताते चलें कि ये ऐप्स किस तरह आपको नुकसान पहुंचा सकती हैं। जिससे आप इन्हें फोरन अपने फोन से डिलीट कर सकें। इस बारे में शिकायत दर्ज होने के बाद कार्रवाई की गई और Google ने सभी खतरनाक 136 ऐप्स पर बैन लगा दिया है। हालांकि, उपयोगकर्ताओं को भी तेजी से ये काम करना चाहिए क्योंकि ग्रिफ्थोर्स एंड्रॉयड ट्रोजन यूनिक है! Google ने जिन ऐप्स को बैन किया है उनकी लिस्ट में हैंडी ट्रांसलेटर प्रो, हार्ट रेट और पल्स ट्रैकर, जियोस्पॉट: जीपीएस लोकेशन ट्रैकर, आईकेयर – फाइंड लोकेशन, माई चैट ट्रांसलेटर शामिल हैं।

ग्रिफ्थोर्स एंड्रॉयड ट्रोजन कैसे दूसरी Apps से अलग है?
Zimperium zLabs के सुरक्षा शोधकर्ताओं  की टीम ने हाल ही में ग्रिफ्थोर्स एंड्रॉयड ट्रोजन नामक एक आक्रामक मोबाइल प्रीमियम सेवा अभियान की खोज की, जिसने वैश्विक स्तर पर 10 मिलियन से अधिक Google Android उपयोगकर्ताओं को लक्षित किया है। शोधकर्ताओं का कहना है कि जहां सामान्य ऑनलाइन घोटाले फ़िशिंग तकनीकों का लाभ उठाते हैं, वहीं ग्रिफ्थोर्स एंड्रॉयड ट्रोजन इस मायने में यूनिक है कि यह ट्रोजन के रूप में कार्य करने वाले malicious एंड्रॉयड एप्लिकेशन के पीछे छिपा हुआ है, जो इसे उपयोगकर्ता के इंटरैक्शन का लाभ उठाने की अनुमति देता है।

Source Link

Leave a Reply