सिसोदिया ने किया ऐलान, नौवीं और 11वीं कक्षा के छात्रों को मध्यावधि परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर किया जाएगा उत्तीर्ण

नयी दिल्ली। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने बृहस्पतिरवार को कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर के चलते नौवीं और 11वीं कक्षा के जिन छात्रों की अंतिम परीक्षाएं पूरी नहीं हो पाईं, उन्हें मध्यावधि परीक्षा में मिले अंकों के आधार पर पास किया जाएगा। सिसोदिया ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, नो-डिटेंशन पॉलिसी के चलते आठवीं कक्षा के छात्रों को बिना किसी बाधा के पास कर दिया गया लेकिन नौवीं और 11वीं कक्षा के छात्रों को पास करने की बाधाओं को कम किया जायेगा। 12 अप्रैल से नौवीं और 11वीं कक्षा की परीक्षाएं शुरू होने की उम्मीद थी, लेकिन छात्रों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए दिल्ली सरकार ने उन्हें रद्द कर दिया। उन्होंने कहा, निजी स्कूल जो पहले ही अपना वार्षिक मूल्यांकन कर चुके हैं, वे प्रोन्नत नीति के संबंध में शिक्षा निदेशालय द्वारा निर्धारित दिशा-निर्देशों का पालन कर करके अपना परिणाम घोषित कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि यदि स्कूलों ने कोई मध्यावधि परीक्षा आयोजित नहीं की या छात्र मध्यावधि की सभी परीक्षाएं नहीं दे पाए, तो परिणाम पांच मुख्य विषयों में से सर्वश्रेष्ठ दो में प्राप्त औसत अंकों के आधार पर घोषित किया जाएगा। सिसोदिया ने कहा कि यह नीति सरकारी और निजी दोनों तरह के स्कूलों पर लागू होगी। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 305 नए मामले सामने आए, 44 रोगियों की मौत

उन्होंने कहा, सभी सरकारी स्कूलों में कक्षा 9 और 11 के परिणाम 22 जून को घोषित किए जाएंगे। किसी भी छात्र को स्कूल नहीं बुलाया जाएगा, बल्कि वे अपना परिणाम ऑनलाइन, फोन कॉल या व्हाट्सएप के माध्यम से प्राप्त करेंगे। मंत्री ने यह भी कहा कि ऐसे छात्र जो मध्यावधि परीक्षा में केवल एक विषय की परीक्षा में उपस्थित हुए या किसी भी विषय में परीक्षा देने में असमर्थ रहे और जिन्हें न्यूनतम योग्यता अंक प्राप्त नहीं हुए हुए, वे पुनर्मूल्यांकन के पात्र होंगे। सिसोदिया ने कहा, इन छात्रों का मूल्यांकन अगली कक्षा में प्रोन्नति के लिए दिये गए असाइनमेंट, प्रोजेक्ट, स्कूल-आधारित परीक्षण आदि के आधार पर किया जाएगा। इन छात्रों का कोई अतिरिक्त ऑफलाइन या ऑनलाइन मूल्यांकन नहीं किया जाएगा। मंत्री ने यह घोषणा भी की कि कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों में कक्षा 6 से 9 के लिए प्रवेश प्रक्रिया 11 जून से शुरू होगी। उन्होंने कहा, पिछले साल आयोजित प्रवेश प्रक्रिया की तरह, दिल्ली सरकार के स्कूलों में दाखिले ऑनलाइन होंगे। माता-पिता या आवेदक 11 जून से 30 जून तक अपने बच्चों या खुद का ऑनलाइन पंजीकरण करा सकते हैं। सिसोदिया ने कहा, छात्रों के पंजीकरण के आधार पर 5 जुलाई से दाखिले शुरू होंगे। जो छात्र तय तारीख तक पंजीकरण नहीं करा पाएंगे, उन्हें दूसरे दौर में पंजीकरण कराना होगा, जो 23 जुलाई से शुरू होकर छह अगस्त तक चलेगा।

Source Link

National