संसद भवन के पास पहुंचे किसान, कृषि कानूनों के खिलाफ की जमकर नारेबाजी, लहराए झंडे

नयी दिल्ली। केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों का विरोध प्रदर्शन पिछले सात महीने से जारी है। इसी बीच किसानों का एक दल राजधानी दिल्ली स्थित संसद भवन जा पहुंचा। जहां पर उन्होंने तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। प्राप्त जानकारी के मुताबिक कुछ किसान शुक्रवार की सुबह संसद भवन पहुंच गए। जहां पर उन्होंने नारेबाजी की। हालांकि पुलिसकर्मियों ने उन्हें हिरासत में ले लिया। 

इसे भी पढ़ें: पंजाब भाजपा प्रमुख अश्विनी शर्मा के खिलाफ किसानों ने किया प्रदर्शन 

इस मामले में दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पांच किसानों को हिरासत में लिया गया था। दरअसल, यह किसान संसद भवन के पास नारेबाजी कर रहे थे और उनके पास किसान संगठनों के झंठे थे। हालांकि किसानों से पूछताछ करने के बाद उन्हें छोड़ दिया गया है।

सात महीने से जारी है आंदोलन

गौरतलब है कि किसान संगठनों का आंदोलन पिछले सात महीने से जारी है। किसानों की मांग है कि केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस ले और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) कानून बनाए। हालांकि सरकार ने यह स्पष्ट कर दिया है कि वह बातचीत के लिए तैयार है लेकिन कानून को वापस नहीं लिया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: अमरिंदर सरकार की बढ़ी मुश्किलें, पंजाब में गहराया बिजली संकट, औद्योगिक इकाइयों को करना पड़ा बंद 

वहीं, गाजीपुर बॉर्डर पर 30 जून को किसानों और भाजपा समर्थकों की झड़प हो गई थी। जिसको लेकर भारतीय किसान यूनियन ने कड़ा विरोध दर्ज कराया था। भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने भाजपा पर जाति आधारित दंगे भड़काने की साजिश रचने का आरोप लगाया था। टिकैत ने कहा था कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने किसान नेताओं को काले झंडे दिखाये और आपत्तिजनक का इस्तेमाल किया गया।

Source Link

Leave a Reply