मुख्यमंत्री चौहान ने सुराज का बताया मतलब, बोले- न खाऊंगा और न खाने दूंगा

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के अवसर पर ‘जन कल्याण और सु-राज अभियान’ चलाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि किसी भी छोटे काम को खराब नहीं समझने वाले, बचपन से ही महापुरुषों की जीवनी पढ़ने वाले, अपनी मां से ईमानदारी की शिक्षा ग्रहण करने वाले और ज्ञान पिपासा इतनी कि युवा नरेंद्र हिमालय की गोद में निकल पड़ा और फिर सोचा हिमालय में तो बस अपना भला होगा लेकिन उन्होंने ने तो सारे राष्ट्र का भला करने का सपना देखा था। 

इसे भी पढ़ें: पीएम मोदी के जन्मदिन पर श्रीलंका और नेपाल के नेताओं ने किया विश, स्वस्थ रहने की कामना की 

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को कामों को शब्दों में नहीं बांधा जा सकता है। इसलिए मैं शब्दों में बांध भी नहीं रहा। कोई जन्मदिन उत्सव को रूप में बनाए उन्हें वो स्वीकार भी नहीं है। इसी बीच उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि न खाऊंगा और न खाने दूंगा। बिना कुछ लिए-दिए जनता के कार्य हो जाएं, यही सुराज है। प्रदेश की जनता की सेवा और उनका कल्याण ही हमारा ध्येय है। मैं भी कह रहा हूं उनकी राह पर चलते हुए ना खाऊंगा ना खाने दूंगा।

इसे भी पढ़ें: जलवायु परिवर्तन की गंभीरता को समझने वाले पहले मुख्यमंत्री थे नरेंद्र मोदी: अमित शाह 

सुराज को समयसीमा में नहीं बांधा जा सकता

उन्होंने कहा कि हमारे मंत्री, हमारे सांसद, हमारे पदाधिकारी, प्रशासन के अधिकारी, कर्मचारी इत्यादि सब सुराज के अभियान में जुटेंगे। गड़बड़ पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी। सुराज जनता का राज है। प्रदेश की हमारी सरकार जनता के लिए है। उन्होंने कहा कि सुराज को किसी समयसीमा पर नहीं बांधा जा सकता है। लगातार प्रयत्न करते रहने की जरूरत है। सावधानी हटी तो दुर्घटना घटी। ऐसे में सरकार चलाने वालों सावधान रहो। ईमानदारी से लोगों तक हर चीज पहुंचे उसके लिए जीजान से समर्पित हो जाओ। हम पहले से भी कर रहे हैं।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply