बैलगाड़ियों पर सवार होकर विधानसभा पहुंचे सिद्धारमैया और शिवकुमार, महंगाई को लेकर बोम्मई सरकार पर साधा निशाना

बेंगलुरु। कर्नाटक में बसवराज बोम्मई के मुख्यमंत्री बनने के बाद विधानसभा का पहला सत्र प्रारंभ हो गया है। इस सत्र की शुरुआत से पहले विपक्ष के नेता सिद्धारमैया और कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी (केपीसीसी) के अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने महंगाई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और बैलगाड़ियों पर सवार होकर विधानसभा पहुंचे। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली यात्रा के दौरान खाली मंत्री पदों को भरने पर कोई चर्चा नहीं होगी : बोम्मई 

आपको बता दें कि विपक्षी दल महंगाई, कानून-व्यवस्था, कोविड-19 महामारी से निबटने और राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन समेत विभिन्न मुद्दों पर बोम्मई सरकार को घेरने की तैयारी में है। सिद्धारमैया ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ईंधन की कीमतों में वृद्धि के लिए कांग्रेस सरकार को दोषी ठहराना गलत है। उन्होंने कहा कि 1,30,000 रुपए का कर्ज था, आज केंद्र ने 24 लाख करोड़ रुपए उत्पाद शुल्क के जरिए जुटाए हैं। 1,30,000 रुपए कहां है और 24 लाख करोड़ रुपए कहां है।

कब तक चलेगा मानसून सत्र ?

मुख्यमंत्री के रूप में बोम्मई और उनके मंत्रिमंडल के लिए यह पहला सत्र होगा। जहां पर उन्हें विपक्ष के सवालों का सामना करना पड़ेगा। जुलाई माह के अंत में बीएस येदियुरप्पा के इस्तीफा देने के बाद बोम्मई ने पदभार संभाला था। दस दिवसीय मानसून सत्र 13 सितंबर को आरंभ होकर होगा 24 सितंबर को समाप्त होगा। 

इसे भी पढ़ें: बेलगाम निकाय चुनाव में महाराष्ट्र एकीकरण समिति की हार दुर्भाग्यपूर्ण : संजय राउत 

कांग्रेस नेता सिद्धरमैया ने रविवार को मैसुरु में गैंगरेप की घटना का जिक्र करते हुए खराब होती कानून-व्यवस्था पर चिंता जताई और कहा कि हत्या, चोरी, वसूली और रेप की घटनाएं आम हो गई हैं।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply