बैन के बावजूद दिल्ली में पटाखों की कालाबाजारी, सदर बाजार के गोदाम से 470 किलोग्राम से अधिक क्रैकर्स बरामद

नयी दिल्ली। दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (DPCC) ने राजधानी में 1 जनवरी 2022 तक सभी तरह के पटाखे फोड़ने और बेचने पर रोक लगा दी है। डीपीसीसी के आदेश में कहा गया है कि जिलाधिकारियों और पुलिस उपायुक्तों को निर्देशों को लागू करने के लिए कहा गया है। इस आदेश के बाद दशहरे और दीवाली से पहले पुलिस एक्टिव हो गयी है। पटाखों की जानकारी मिलने पर पुलिस छापेमारी  कर रही हैं। 

इसे भी पढ़ें: अपने विरोध में बोलने की आवाज दबाने के लिए यूएपीए का इस्तेमाल कर रही सरकार: जयंत चौधरी

 

 सदर बाजार के गोदाम से 470 किलोग्राम से ज्यादा अवैध पटाखे बरामद 

उत्तरी दिल्ली के सदर बाजार इलाके में एक गोदाम से 470 किलोग्राम से ज्यादा अवैध पटाखे बरामद किये गए और गोदाम के मालिक को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि आरोपी मोहम्मद रिहान (21) उत्तर प्रदेश का रहने वाला है और वह त्यौहार के दौरान चीजें बेचने का काम करता है। पुलिस ने कहा कि यहां गोदाम से कुल 472.4 किलोग्राम अवैध पटाखे बरामद किये गए और गोदाम 12 हजार रुपये किराये पर लिया गया था। पुलिस ने कहा कि आरोपी ने अवैध पटाखे उत्तर प्रदेश के मेरठ से खरीदे थे और दिवाली पर ऊँचे दाम पर बेचने का उसका इरादा था।

इसे भी पढ़ें: बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र का विस्तार संघवाद पर हमला : पंजाब सरकार

 

 त्योहार के बाद आ सकती कोरोना की तीसरी लहर 

आपको बता दें कि सदस्य सचिव केएस जयचंद्रन द्वारा जारी डीपीसीसी आदेश में कहा कि त्योहारों के सीजन के बाद कोरोना वायरस की तीसरी लहर का अनुमान लगाया है और पटाखों को फोड़ने से बड़े पैमाने पर समारोहों के परिणामस्वरूप न केवल लोगों का जमावड़ा होगा, बल्कि सामाजिक दूरियों के मानदंडों का उल्लंघन होगा, बल्कि उच्च स्तर का वायु प्रदूषण भी गंभीर होगा।

दिल्ली में स्वास्थ्य के मुद्दे प्रचलित महामारी संकट की स्थिति के तहत, वायु प्रदूषण और श्वसन संक्रमण के बीच महत्वपूर्ण संबंध को देखते हुए, वायु प्रदूषकों के संभावित उच्च स्तर के जोखिम के कारण छोटे और दीर्घकालिक प्रतिकूल स्वास्थ्य प्रभावों को देखते हुए, यह बड़े सामुदायिक स्वास्थ्य के लिए अनुकूल नहीं है। 

Source Link

Leave a Reply