पुरानी कार की कीमतों में देखी गई वृद्धि, ड्रूम के संस्थापक का खुलासा- 165 मिलियन डॉलर का किया कारोबार

हाल ही में देखा गया है कि बाजार में यूज्ड वाहनों की मांग तेजीी से बढ़ रही है ।विशेष रूप से ज्यादा बिकने वाले मॉडल, नई कारों के उत्पादन को लगातार प्रभावित कर रहे हैं।

 
ड्रूम के संस्थापक और सीईओ संदीप अग्रवाल का कहना है कि पुरानी कारों की कीमतों में 5 से 10 परसेंट की वृद्धि देखी गई है ,जिसके चलते ऑनलाइन लेन-देन में 25% की वृद्धि हुई है ।CEO का कहना है कि अप्रैल- अगस्त के दौरान यूज्ड कार का 130 मिलियन डॉलर का कारोबार किया गया था ,जो अब 165 मिलियन डॉलर हो गया है।
 
उन्होंने कहा कि हमारे प्लेटफार्म पर यूज्ड कार लिस्टिंग अप्रैल में 900000 से बढ़कर अब 1.1 मिलियन हो गई है। बिक्री में सबसे ज्यादा उछाल बेस्ट सेलिंग मॉडल में देखने को मिल रहा है। जिसमें अल्टो 800 ,स्कॉर्पियो, सैंटरो ,वैगन आर जैसे फास्ट मूविंग मॉडल की बिक्री क्रमशः 55%, 42%, 30% और 23% बढ़ी है। इन सबसे ज्यादा बिकने वाले मॉडलों की कीमत 3-10 फ़ीसदी बढ़ी है।
वहीं CARS24 के सीईओ कुणाल मुंद्रा का कहना है कि ऑटो इंडस्ट्री में चल रही चिप की कमी ने त्योहारी सीजन से पहले प्रोडक्शन ramp-up को प्रभावित किया है ।यह सेकंड हैंड वाहनों की बिक्री को और बढ़ावा देगा।अब जब ऑटो उद्योग चिप की कमी के संकट का सामना कर रहा है, तो आने वाले महीनों में उत्पादन में उल्लेखनीय गिरावट देखने को मिलेगी।
 
आगामी त्योहारी सीजन और नई कारों के उत्पादन में गिरावट के साथ, पूर्व स्वामित्व वाली कारों की मांग में उल्लेखनीय वृद्धि होने की उम्मीद है। नए कार डीलरों ने पहले ही कहा है कि लगभग 25 दिनों के स्टॉक के साथ, त्योहारी सीजन इस साल कम होगा क्योंकि कार कंपनियां पर्याप्त उत्पादन नहीं कर पाएंगी।
 
जनवरी-मार्च में 19.2 दिनों से जुलाई-सितंबर में 18.7 दिनों तक – उच्च मांग के कारण पुरानी कारों की सूची भी कम हो गई है।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply