नए गुजरात सीएम के नाम पर अटकलों का दौर, रविवार को विधायक दल की बैठक संभव, अहमदाबाद पहुंच सकते हैं अमित शाह

आज गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव से लगभग सवा साल पहले उन्होंने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपा। गुजरात में 182 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव दिसंबर 2022 में होने हैं। 2017 में हुए चुनाव में भाजपा को मिली जीत के बाद विजय रूपाणी दूसरी बार मुख्यमंत्री बने थे। इस्तीफा देने के बाद रूपाणी ने पार्टी के नेताओं का आभार जताते हुए कहा कि अब मेरी पार्टी जो मुझे काम देगी मैं उसे करूंगा।

कल विधायक दल की बैठक होने की संभावना
नया मुख्यमंत्री चुनने के लिए कल भाजपा की विधायक दल की बैठक हो सकती है। हालांकि इसको लेकर अब तक आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है। संवाददाता सम्मेलन में भाजपा नेता यमल व्यास ने बताया कि हमें विश्वास है कि कल या परसों में नए मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा कर दी जाएगी। दिल्ली में केंद्रीय पार्लियामेंट्री बोर्ड की बैठक होगी। नए निरीक्षकों के नाम दिल्ली से तय होंगे। यहां के अगले मुख्यमंत्री का चुनाव यहां के विधायक करेंगे। उन्होंने कहा कि बैठक में नये मुख्यमंत्री के नाम पर फैसला होगा। इस बीच, संतोष और यादव ने पार्टी के प्रदेश इकाई प्रमुख सी आर पाटिल, उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल, मंत्री भूपेंद्र सिंह चूड़ासमा व प्रदीप सिंह जाडेजा, प्रदेश भाजपा महासचिव प्रदीप सिंह वाघेला और राजूभाई पटेल तथा विधानसभा में पार्टी के मुख्य सचेतक पंकज देसाई सहित गुजरात भाजपा के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की। व्यास ने कहा कि रूपाणी ने मुख्यमंत्री के तौर पर कई सारे विकास कार्य कर राज्य को नयी ऊंचाइयों पर पहुंचाया। विधायक दल की बैठक के लिए सभी विधायकों को अहमदाबाद बुला लिया गया है इंतजार अब दिल्ली से पर्यवेक्षकों के आने का हो रहा है
 

इसे भी पढ़ें: रूपाणी के इस्तीफे की पटकथा अमित शाह ने 9 सितंबर को ही लिख दी थी? चुनाव से एक साल पहले आनंदीबेन पटेल की भी हुई थी विदाई

अमित शाह पहुंच सकते हैं अहमदाबाद
मुख्यमंत्री पद से विजय रूपाणी के इस्तीफा देने के बाद अगले सीएम को लेकर हलचल तेज हो गई है। इन सब के बीच खबर यह है कि अमित शाह भी अहमदाबाद पहुंच सकते हैं। कमल व्यास ने बताया कि केंद्रीय पर्यवेक्षकों के साथ विधायक दल की बैठक में अमित शाह के भी शामिल होने की संभावना है। हालांकि इस को लेकर अब तक कोई पुष्टि पार्टी की ओर से नहीं की गई।
मुख्यमंत्री की रेस में यह नाम सबसे आगे
सीएम की रेस में 4 नाम सबसे आगे हैं। यह नाम है केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया, गोवर्धन झड़फिया, गुजरात भाजपा अध्यक्ष सीआर पाटील और वर्तमान में उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल का। 
 
मनसुख मांडविया
मनसुख मांडविया वर्तमान में केंद्रीय कैबिनेट में स्वास्थ्य मंत्रालय की जिम्मेदारी के साथ-साथ उर्वरक मंत्रालय की भी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बेहद करीबी नेताओं में से एक कहा जाता है। साथ ही साथ उन्हें लो प्रोफाइल नेता के तौर पर पेश किया जाता है जो लगातार लोगों के बीच में रहना पसंद करते हैं।
सीआर पाटील 
गुजरात भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत रघुनाथ पाटील वर्तमान में लोकसभा के सदस्य हैं। वह तीसरी बार नवसारी से जीतकर सांसद बने हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में वह रिकॉर्ड मतों से जीत दर्ज करने में कामयाब हुए थे। वह खामोश रहकर काम करने में माहिर है। वह संगठन में लगातार काम करते रहे हैं। साथ ही साथ संघ और आलाकमान दोनों के बेहद करीबी हैं।
 

इसे भी पढ़ें: रूपाणी के इस्तीफे पर बोले राघव चड्ढा, AAP के मजबूत होने से भाजपा को गुजरात और उत्तराखंड में हटाना पड़ा CM

नितिन पटेल 
गुजरात के वर्तमान में उप मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी संभाल रहे नितिन पटेल भी मुख्यमंत्री की रेस में हैं। 2018 के विधानसभा चुनाव के बाद वह मुख्यमंत्री बनते बनते रह गए थे। नितिन पटेल ने तो मुख्यमंत्री बनने के बाद अपनी जिम्मेदारियों का भी ऐलान कर दिया था और अपनी प्राथमिकता भी बता दी थी। लेकिन बाद में उन्हें उप मुख्यमंत्री बनाया गया। कई दिनों तक उनकी नाराजगी की भी खबर थी।
गोवर्धन झड़फिया
गोवर्धन झड़फिया भी मुख्यमंत्री की रेस में आगे हैं। गोवर्धन झड़फिया गुजरात में केशुभाई पटेल के कार्यकाल के दौरान भी मंत्री रहे हैं और 2002 में जब दंगे हुए थे उस समय वह नरेंद्र मोदी की सरकार में गृह मंत्री थे। हालांकि 2002 के बाद नरेंद्र मोदी से गोवर्धन झड़फिया के रिश्तो में दरार आने लगी। झड़फिया ने भाजपा से दूरी बना ली। हालांकि बाद में उन्हें भाजपा में शामिल किया गया और यूपी में भाजपा का सह-प्रभारी भी बनाया गया।
 
 

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply