दिल्ली में बिजली की मांग चरम पर, 7,323 मेगावाट की नई ऊंचाई पर पहुंची

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में लगातार चौथे दिन भीषण गर्मी के बीच बिजली की मांग शुक्रवार दोपहर को 7,323 मेगावाट की नई ऊंचाई पर पहुंच गई, जबकि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बिजली की मांग में तेज वृद्धि के बावजूद निर्बाध आपूर्ति जारी रही। इससे पहले इस मौसम की सबसे अधिक मांग 7,026 मेगावाट बृहस्पतिवार को दर्ज की गई थी, जिसने पिछले दिन के 6,921 मेगावाट के रिकॉर्ड को तोड़ा था। दिल्ली स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर के वास्तविक डेटा के मुताबिक, शुक्रवार दोपहर 3.16 बजे बिजली की मांग 7323 मेगावाट पर पहुंच गई।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ईंधन की बढ़ती कीमतों को लेकर ओडिशा में 7 जुलाई से विरोध प्रदर्शन करेगी

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ट्विटर पर कहा कि शहर बिना बिजली कटौती के चरम मांग को पूरा करने में कामयाब रहा। उन्होंने ट्वीट किया, बिजली की मांग में तेज वृद्धि के बावजूद, दिल्ली ने इसे अच्छी तरह से प्रबंधित किया है। कोई बिजली कटौती नहीं। निर्बाध बिजली आपूर्ति। दिल्ली के बिजली मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी शहर के बिजली सेक्टर को बधाई दी। उन्होंने ट्वीट किया, दिल्ली ने आज 7323 मेगावाट की अपनी उच्चतम बिजली की मांग को सफलतापूर्वक पूरा किया। इस उपलब्धि के लिए दिल्ली बिजली सेक्टर को हार्दिक बधाई। गौरतलब है कि पिछले साल, 29 जून को शहर में सबसे अधिक बिजली की मांग 6,314 मेगावाट थी।

इसे भी पढ़ें: स्पेन ने बनाई सेमीफाइनल में जगह, स्विट्जरलैंड को पेनल्टी शूट आउट में हराया

2 जुलाई, 2019 को दिल्ली में 7,409 मेगावाट की बिजली की सर्वकालिक अधिकतम मांग दर्ज की गई थी। बीएसईएस डिस्कॉम- बीएसईएस राजधानी पावर लिमिटेड (बीआरपीएल), बीएसईएस यमुना पावर लिमिटेड (बीवाईपीएल) ने अपने क्षेत्रों में क्रमशः 3,079 मेगावाट और 1,640 मेगावाट की बिजली मांग को सफलतापूर्वक पूरा किया। बिजली वितरक कंपनी के एक प्रवक्ता ने यह बताया। टीपीडीडीएल के एक प्रवक्ता ने कहा कि टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रीब्यूशन लिमिटेड ने शुक्रवार दोपहर बिना किसी नेटवर्क बाधा और बिजली कटौती के 2,104 मेगावाट की सबसे अधिक बिजली की मांग को सफलतापूर्वक पूरा किया।

Source Link

Leave a Reply