टीकाकरण को लेकर शिवकुमार की कर्नाटक सरकार को चुनौती, 3 महीने में 80% वयस्क आबादी को दें दोनों खुराक

बेंगलुरु। कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष डी के शिवकुमार ने रविवार को राज्य सरकार को सितंबर के अंत तक दोनों खुराकों के साथ प्रदेश की 80 प्रतिशत वयस्क आबादी का टीकाकरण करने की चुनौती दी। उन्होंने कहा कि ऐसा करने से लोगों को कोविड-19 की तीसरी लहर से बचाया जा सकता है। शिवकुमार ने कहा, विशेषज्ञ अनुमान लगा रहे हैं कि तीसरी लहर अक्टूबर तक आ जाएगी। हालांकि, अगर हम सितंबर के अंत तक कम से कम 80 प्रतिशत वयस्क आबादी को पूरी तरह से टीका लगा देते हैं, तो हो सकता है तीसरी लहर नहीं आए।अगर आती भी है, तो यह बहुत ही हल्की होगी। इसलिए मैं कर्नाटक सरकार से पूछ रहा हूं कि क्या वे इस चुनौती के लिए तैयार हैं? 

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक में कांग्रेस की वजह से भाजपा सत्ता में आई, कुमारस्वामी बोले- मुसलमानों को अहसास होना चाहिए 

टीकाकरण के महत्त्व पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि कर्नाटक सरकार ने अब तक पात्र आबादी के केवल सात प्रतिशत लोगों को ही दोनों खुराक दी है। शिवकुमार के कार्यालय द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में उनके हवाले से कहा गया है, सरकार को इस बारे में बात करना बंद कर देना चाहिए कि उसने कितनी खुराक दी है। जो मायने रखता है, वह है दोहरी खुराक। केवल एक खुराक से बहुत कम सुरक्षा होती है। दोनों खुराक से बहुत अधिक सुरक्षा होती है। मुंबई, लंदन, न्यूयॉर्क में इसको लेकर अध्ययन हुए हैं, जिनमें सभी कह रहे हैं कि दोनों खुराक हमें बचाएंगे। 

इसे भी पढ़ें: अगले चुनाव के लिए सीएम के चेहरे पर चर्चा नहीं हुई, कांग्रेस में कोई विवाद नहीं : सिद्धरमैया 

यह देखते हुए कि विशेषज्ञों के अनुसार तीसरी लहर में बच्चे सबसे ज्यादा प्रभावित हो सकते हैं और इसे बड़ी चिंता का विषय बताते हुए केपीसीसी प्रमुख ने कहा, हम तीसरी लहर नहीं चाहते हैं। हम तीसरी लहर को दूर कर सकते हैं। हम बस इतना कर सकते हैं कि तीसरी लहर शुरू होने से पहले 80 प्रतिशत आबादी का टीकाकरण कर दिया जाए। उन्होंने कहा, कर्नाटक के लोगों की ओर से, मैं सरकार से दोनों खुराक के साथ तीन महीने में 80 प्रतिशत टीकाकरण करने का अनुरोध करता हूं। मुझे उम्मीद है कि वे मेरी चुनौती स्वीकार करेंगे। शिवकुमार इस संबंध में राज्यपाल को एक ज्ञापन भी देंगे।

Source Link

Leave a Reply