जेएमसी और हंसराज कॉलेज में कुछ पाठ्यक्रमों का कटऑफ शत प्रतिशत, प्रधानाचार्यों ने बताई वजह

नयी दिल्ली। देश में कोरोना आपदा के बाद धीरे-धीरे सभी ऑफिस, कॉलेज और स्कूलों को खोले जाने की तैयारी है। ऐसे में सरकार कड़े नियमों और पूरी गाइडलाइंस के साथ आगे बढ़ती नज़र आ रही है। आपको बता दें कि 1 अक्टूबर को यानी शुक्रवार को दिल्ली विश्वविद्यालय (DU) की और से जीसस ऐंड मैरी कॉलेज (JMC) और हंसराज कॉलेज में प्रवेश के लिए कटऑफ जारी की गई है। इस कटऑफ में कुछ विषयों का कटऑफ शत- प्रतिशत दिया गया है। जबकि अन्य विषयों पर ध्यान केन्द्रित किया जाए तो पिछले साल के मुकाबले कटऑफ अधिक है।
 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश सरकार ने किया भूपेश बघेल और रंधावा का विमान लखनऊ में नहीं उतरने देने का अनुरोध

 
मनोविज्ञान विषय में कटऑफ 99 प्रतिशत 
बड़े-बड़े कॉलेजों में कटऑफ को लेकर स्टूडेंट काफी नाराज़ रहते हैं क्योकि उनका कटऑफ काफी ज्यादा होता है। जीसस ऐंड मैरी कॉलेज ने मनोविज्ञान विषय में बीए (ऑनर्स) के लिए कटऑफ प्रतिशत जारी किया जो उन विद्यार्थियों के लिए 100 प्रतिशत है जिनके सबसे बेहतर चार विषयों के प्रतिशत में यह विषय नहीं है। वहीं, जिन विद्यार्थियों के बेहतरीन चार विषयों में मनोविज्ञान शामिल है, उनके लिए कटऑफ 99 प्रतिशत है। पिछले साल जेएमसी में मनोविज्ञान में प्रवेश के लिए उन विद्यार्थियों के लिए कटऑफ 99.5 प्रतिशत था जिनके बेहतरीन चार विषयों में यह विषय नहीं था या जिन्होंने इस विषय में 85 प्रतिशत से कम अंक प्राप्त किए थे जबकि अन्य के लिए यह 98.5 प्रतिशत अंक था।
 

इसे भी पढ़ें: खंडवा से लड़ने के लिए अरुण यादव ने किया मना, आलाकमान को भेजा पत्र

 
पिछले साल कैसे अलग है कटऑफ
इसी प्रकार हंसराज कॉलेज में कंप्यूटर विज्ञान विषय से बीएससी (ऑनर्स)हेतु प्रवेश लेने के लिए शत प्रतिशत अंक की जरूरत है जो पिछले वर्ष से काफी अधिक है। पिछले साल इस पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए 97.25 प्रतिशत अंक की जरूरत थी।
जेएमसी कॉलेज के मुताबिक जो विद्यार्थी राजनीति शास्त्र में B.A (ऑनर्स) करना चाहते हैं और बेहतर चार विषयों में यह विषय नहीं है, उनके लिए 99.75 प्रतिशत अंक की जरूरत होगी जबकि अन्य के लिए 97.75 अंक की जरूरत होगी। पिछले साल राजनीति शास्त्र में बीए (ऑनर्स) के लिए 99 प्रतिशत कटऑफ गया था।
पिछले साल की कटऑफ पर नज़र डालें तो अर्थशास्त्र में बीए (ऑनर्स) करने के लिए 98.5 प्रतिशत अंक और अंग्रेजी विषय में बीए (ऑनर्स) के लिए 99 प्रतिशत अंक उन विद्यार्थियों के लिए निर्धारित किए गए थे जो वाणिज्य संकाय से आए हैं जबकि मानविकी और विज्ञान संकाय के विद्यार्थियों के लिए यह अर्हता 97 प्रतिशत थी।
हंसराज कॉलेज ने इस साल अर्थशास्त्र में बीए (ऑनर्स), भौतिकशास्त्र में बीएससी (ऑनर्स) और बीकॉम (ऑनर्स) के लिए कटऑफ क्रमश: 99.75 प्रतिशत, 99.66 प्रतिशत और 99.75 प्रतिशत तय किया है। पिछले साल कॉलेज की अर्थशास्त्र में बीए (ऑनर्स), भौतिकशास्त्र में बीएससी (ऑनर्स) और बीकॉम (ऑनर्स) का कटऑफ क्रमश: 98.75 प्रतिशत, 98.33 प्रतिशत और 99.25 प्रतिशत थी।
 
प्रधानाचार्यों ने कटऑफ पर क्या कहा
दिल्ली विश्वविद्यालय की ओर से महाविद्यालयों के प्रधानाचार्यों का कहना है कि पिछले साल के मुकाबले इस साल कटऑफ अधिक होने की संभावना है क्योंकि CBSE की 12वीं बोर्ड परीक्षा में 70 हजार से अधिक विद्यार्थियों ने 95 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किया है। जिसको देखते हुए हमें ऐसे पैटर्न बनाने पड़ते हैं हर साल आवेदन पहले से बढ़ रहे हैं। परिणाम हर साल ऊंचे होते हैं इसलिए हमें करना पड़ता है।

Source Link

Leave a Reply