जयपुर के इंस्टीट्यूट में नीट एग्जाम लीक, 8 लोग हुए गिरफ्तार

जयपुर के  भाकंरोटा के राजस्थान इंस्टिट्यूट ऑफ  इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट के लिए आयोजित नीट की परीक्षा में पेपर लीक का हैरतअंगेज मामला सामने आया है । बताया जा रहा है कि जयपुर के इस केंद्र में परीक्षा शुरू होने के महज 35 मिनट बाद ही आंसर की परीक्षा आयोजित करने वालों लोगों के मोबाइल पर पहुंच गई थी।जिसके बाद इन्होंने पैसे लेकर छात्रों को इसे सप्लाई कर दिया।
 

इसे भी पढ़ें: MP में शुरू हुए कॉलेज, छात्रों को करना होगा इन नियमों का पालन  

राजस्थान पुलिस सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची और परीक्षा केंद्र से आठ लोगों को नेट प्रश्नपत्र की उत्तर सारणी के साथ गिरफ्तार कर लिया ।इस मामले में छह मेडिकल छात्रों सहित नौ लोगों को चार जगह से  गिरफ्तार किया गया है। इसमें दूसरे छात्रों के बदले परीक्षा दे रही देहरादून मेडिकल कॉलेज में थर्ड ईयर की छात्रा प्राची परमार को गिरफ्तार किया गया है ।
 
वहीं अलवर की रहने वाली प्रिया को भी इसी फर्जीवाड़े के तहत गिरफ्तार किया गया है । देहरादून मेडिकल कॉलेज के फाइनल वर्ष का छात्र और जोधपुर का रहने वाले प्रद्युमन सिंह ने 20 लाख रुपए में डमी परीक्षार्थी बनकर परीक्षा देने का सौदा किया था ,जिसको भी पुलिस  ने गिरफ्तार कर लिया है ।
 

इसे भी पढ़ें: दूसरे राज्य के लोगों के लिए रजिस्टर रखने पर महाराष्ट्र में बवाल, बीजेपी ने आदेश को समाज को तोड़ने वाला बताया  

पुलिस की जांच से पता चला है कि कोटा में बायो सर के नाम से मशहूर राजन राजपुरोहित इस गिरोह का हेड है।। यह राजस्थान मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट 2010 का टॉपर रह चुका है। और अभी चित्तौड़गढ़ में मेडिकल ऑफिसर के पद पर है। यह पिछले कई वर्षों से यह काम करता रहा है।
 
यह गिरोह मुख्य रूप से अमीर परिवारों को अपना निशाना बनाते हैं। अमीर परिवार के छात्र छात्राओं से संपर्क कर 35 लाख में  परीक्षा पास करवाने की गारंटी भी देते हैं। परीक्षा गिरफ्तारी के बाद बायो गुरु उर्फ  राज गुरु ने बताया कि हालांकि मैंने कई छात्र छात्राओं को ऐसे पास कराया है। लेकिन बाद में वे एमबीबीएस में जाकर फेल हो गए और उन्होंने आगे की पढ़ाई छोड़ दी।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply