चौधरी चरण सिंह कांवड़ नहर पटरीमार्ग से हटाए जाएंगे 40 हजार पेड़, जानिए पूरा मामला

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ में कांवड गंगनहर की दाईं पटरी के निर्माण के लिए वन विभाग और पीडब्लूडी ने प्रक्रिया को तेज कर दिया है। आठ जुलाई को 253 करोड़ का टेंडर अपलोड कर दिया जाएगा। पीडब्लूडी विभाग की ओर से बुधवार को टेंडर प्रक्रिया शुरू करने के बाद अब वन विभाग पेड़ों को स्थानांतरित करने की तैयारी कर रहा है। वन विभाग दो पार्ट में पेड़ों को स्थानांतरित करने का कार्य करेगा। इसके लिए बृहस्पतिवार को पीडब्लूडी विभाग के जूनियर इंजीनियर ने डीएफओ राकेश कुमार से मुलाकात की। 

इसे भी पढ़ें: मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज में जल्द मिलेंगी AIIMS जैसी सुविधाएं ! सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक हुआ तैयार 

उन्होंने वन विभाग के पेड़ों से संबधित कागजात जमा करने के लिए कहा। लगभग 250 हेक्टेयर भूमि से 40 हजार पेड़ों को हटाया जाना है। इसके अलावा इन पेड़ों को मिर्जापुर और शिवालिक में स्थानांतरित किया जाएगा। इसके लिए स्थान चिह्नित किए गए हैं। 111 किमी के इस मार्ग में पहला कार्य वन विभाग को करना है। इसके बाद ही सड़क निर्माण कार्य पीडब्लूडी करेगा। इसी को देखते हुए आठ जुलाई को 253 करोड़ का टेंडर अपलोड कर दिया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: मेरठ के एक होटल में सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, ग्राहक और युवतियों समेत 9 गिरफ्तार 

वन विभाग दो पार्ट में पेड़ों को स्थानांतरित करेगा। पहले पार्ट में पेड़ों की गिनती की गई थी। जितने पेड़ काटे जाएंगे, उससे कहीं अधिक लगाए जाने हैं। इसी को देखते हुए 300 हेक्टेयर से अधिक मिर्जापुर (सोनभद्र) और 140 हेक्टेयर से अधिक सहारनपुर के शिवालिक की पहाड़ियों में लगाए जाएंगे।

Source Link

Leave a Reply